भ्रष्टाचार पर निबंध (Essay on Corruption in Hindi): Corruption Nibandh for Student Kids

Corruption Essay in Hindi: यहां भ्रष्टाचार पर सबसे सरल और आसान शब्दों में हिंदी में निबंध पढ़ें। नीचे दिया गया भ्रष्टाचार निबंध हिंदी में कक्षा 1 से 12 तक के छात्रों के लिए उपयुक्त है।

Essay on Corruption in Hindi (भ्रष्टाचार पर निबंध): Short and Long

भ्रष्टाचार एक ऐसा तरीका है जिसमे कोई व्यक्ति किसी दुसरे से फायदा प्राप्त करने के लिए उसे कानून की नजरों से छुपकर उस कार्य की कीमत देता हो. भ्रष्टाचार किसी भी देश के विकाश तरक्की की सबसे बढ़ी बाधा है, भ्रष्टाचार हर क्षेत्र में एक बढ़ी समस्या बनता जा रहा है जिसके कारण वे व्यक्ति जिनके पास अधिक घन है वे अपना कार्य एक भ्रष्ट व्यक्ति के रूप में करा सकता है भ्रष्टाचार करना या इसे होने देना ये दोनों ही कानून और देश की नजरों में बहुत बाधा अपराध है| इस लेख में हमने भ्रष्टाचार के ऊपर एक लघु निबंध प्रकाशित किया है जिनकी सहायता से स्कूली और कॉलेज के बच्चे अपनी परीक्षाओं में भ्रष्टाचार पर निबंध लिखने वे भाषण दे सकते है|

विधार्थियों के लिए भ्रष्टाचार पर निबंध हिंदी में – Complete Essay on Corruption in Hindi

भ्रष्टाचार एक क़ानूनी अपराध है जो देश के विकास की गति में बाधा बना बैठा है आज के समय में भ्रष्टाचार का असर व्यक्ति और राष्ट्र के विकास दोनों में पड़ रहा है| भ्रष्टाचार का संबंध सरकारी या गैर सरकारी द्वारा अपनी शक्ति पद का गैरकानून और गलत इस्तेमाल करना है| भ्रष्टाचार देश में व्यक्ति समाज के मध्य असमानता बढता है सिर्फ ये ही नहीं ये देश की आर्थिक, राजनितिक, सामजिक रूप में राष्ट्र की प्रगति में रूकावट भी है|

भ्रष्टाचार का इस्तेमाल व्यक्ति अपने फायदे के लिए करता है जिसमे सरकार या देश को कोई फ़ायदा नहीं होता ये सिर्फ निजी स्वार्थ और आत्म संतुष्टि प्राप्त के लिए किया जाता है इसमें व्यक्ति सार्वजनिक संपत्ति का गैर क़ानूनी ढंग से इस्तेमाल कर अपना फ़ायदा करता है.

भ्रष्टाचार भारत में ही नहीं बल्कि विदेशो में भी फ़ैल रहा है जिसकी जड़े राष्ट्र में अधिक गहराई तक जा चुकी है और ये रुकने का नाम नहीं ले रही और तेजी से फैलती जा रही है| यदि भ्रष्टाचार को एक आसान शब्दों में समझाया जाए तो इसका अर्थ है की किसी से गैरकानूनी तरीकों से अपना कार्य कराना और उसके बदले चोरी छुपे पैसा देना है इसमें पूंजी का गलत इस्तेमाल किया जाता है, इस तरह के कार्य अक्सर सरकारी और निजी कार्यालयों में किया जाता है जहाँ भ्रष्टाचार का इस्तेमाल कर व्यक्ति अपनी पूर्ति बिना समस्या के अपना कार्य जल्दी से करवाते है|

भारत देश भ्रष्टाचार के मामले में बहुत से देशो की सूचि में ऊपर के स्थान पर है क्यूंकि देश के बहुत से ऐसे व्यक्ति है जो अपना कार्य बिना किसी समस्या के करवाते है जिसमे वे अधिक पैसे उस कार्य के लिए देते है| यदि शिक्षा की बात करे तो शिक्षा क्षेत्र में बच्चो का एडमिशन भी पैसे देकर किया जाता है सिर्फ शिक्षा ही नहीं बल्कि ड्राइविंग लाइसेंस, बैंकिंग कार्य, सरकारी नौकरी पाना आदि ये सभी घूस (रकम) देकर किया जाता है.

वर्तमान में देश के व्यक्ति पैसों के खातिर अपनी जिमेदारियों को भूलते जा रहे है हमे समझना होगा की हमारे लिए पैसा ही सबकुछ नहीं ये हमेशा पास रहने वाली पूंजी नहीं और ना ही ये एक जगह टिकती ये हमे लालच और भ्रष्टाचार देगा हमे जीवन में पैसो को नहीं बल्कि अपने जीवन में मूल्यों को अधिक महत्व देना चाहिए| ये बिलकुल सही है की जीवन में अधिक धन से हम अपनी आवश्यकताओं को अच्छे ढंग से जी सकते है परन्तु इसका इस्तेमाल सही ढंग से किया जाना चाहिए|

देश में भ्रष्टाचार से कोई भी क्षेत्र वंचित नहीं है चाहे वे, शिक्षा, खेल, बैंकिंग कार्य या राजनीती कुछ भी हो व्यक्ति अपनी जिम्मेदारियां नहीं समझते| चोरी, बेईमानी, सार्वजनिक संपत्तियों की बरबादी, शोषण, घोटाला, और अनैतिक आचरण आदि सभी ये भ्रष्टाचार में सम्मिलित है क्यूंकि ये सभी गैर-क़ानूनी तरीके से पूंजी का गलत इस्तेमाल कर उसे नष्ट करते है|

देश के व्यक्ति चाहे शिक्षित हो या अशिक्षित हो एक तुच्छ लालच के लिए लोगो का कार्य करवाने के लिए उनसे पैसे लेते है| सामाजिक समानता और देश की प्रगति के लिए भ्रष्टाचार को जड़ से समाप्त करने की बहुत जरुरत है और हम सबको अपनी जिम्मेदारियों के प्रति निष्ठावान होना चाहिए और किसी भी तरीके का भ्रष्टाचार होते समय कानून का साथ देना होगा|

Check Also:

Leave a Comment