गाय पर निबंध (Essay on Cow in Hindi): Cow Nibandh for Student Kids

अक्सर प्राथमिक कक्षा में पढ़ रहे बच्चो को गाय पर निबंध लिखने या फिर भाषण देने के लिए आमतौर पर कहा/पुछा जाता है. गाय के विषय पर यहाँ हमने गाय पर निबंध प्रकाशित किया है, जिसमे गाय के बारे में मुख्य जानकारी दी गई जोकि आपकी गाय पर निबंध लिखने और गाय पर भाषण देने में आपको अच्छा ज्ञान देने में मदद करेगा.

Cow Essay in Hindi: यहां गाय पर सबसे सरल और आसान शब्दों में हिंदी में निबंध पढ़ें। नीचे दिया गया गाय निबंध हिंदी में कक्षा 1 से 12 तक के छात्रों के लिए उपयुक्त है।

Essay on Cow in Hindi (गाय पर निबंध): Short and Long

गाय एक घरेलु पशु/जानवर पशु होती है| गाय हमे रोजाना ताजा और पौष्टिक दूध देती है| गाय जंगली जानवर नहीं होती| गाय विश्व में हर हिस्सों में पाई जाती है| भारत में गाय को अक्सर गाय गौ-माता भी कहा जाता है और इसकी पूजा भी करते है| दुसरे जानवरों की तुलना में गाय को सब से पवित्र पशु माना जाता है| गाय कई रंग में पाई जाती है| गाय का शारीर बड़ा होता है जिसकी चार थन, चार टाँगे और दो सिंग होते है| गाय एक शाकाहारी पशु है जो घास-फूस खाना पसंद करती है.

गाय के दूध से बहुत सी पोष्टिक खाना बनाया जा सकता है जैसे, दही, मक्कखन, देसी घी, पनीर, मट्ठा, खोया आदि. गाय का दूध बच्चो , बड़ो को बहुत फैदेमंद होता है जिससे की शारीर को ताकत मिलती है और मस्तिष्क की एकाग्रता और सोचने की क्षमता बढती है| गाय का दूध शारीर में कई बीमारियों से बचाता है गाय के दूध का सेवन रोजाना करना चाहिए.

गाय का गोबर हमारे इंधन के बहुत काम आता है गाय के गोबर के गांवों में उपले बनाए जाते है जिन्हें घर के चूल्हों में इस्तेमाल किया जाता है जिससे की खाना बनाया जा सकता है.

गाय हत्या हिन्दू धर्म में एक बहुत बड़ा पाप माना जाता हैं और कई देशो में गाय के कत्लेआम पर रोक भी लगा दी गई है| गाय की मृत्यु हो जाने पर कई देशो में इसका चमड़ा, बैग, पर्स बनाने में और हड्डियों का प्रयोग कंघी, चाक़ू का मुठिया, बटन जैसी चीजो को बनाने के लिए उपयोग की जाती है.

गाय कई सालों में मनुष्य के स्वास्थ्य को तंदरुस्त बनाने का कारण बनी है| हम सभी अपने जीवन में गाय के महत्व और इसकी आवश्यताओं को जानते है और इसका हमेशा हम सभी को मान-सम्मान करना चाहिए| किसी भी गाय को कभी चोट नहीं पहचानी चाहिए और उन्हें समय पर सही और उचित खाना एवं पानी खिलाना/पिलाना चाहिए.

Check Also:

Leave a Comment