Government Schemes

Hindi – Madhya Pradesh Jansunwai Portal

यह योजना मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा सूबे के आम नागरिकों की उपेक्षित समस्याओं के पारदर्शी समाधान के लिये शुरू की गई है। ताकि लोगों की जिन समस्याओं का शासन-प्रशासन के निचले स्तर पर हल न निकलता हो उन्हें सीधे मुख्यमंत्री तक पहुंचाया जा सके। और इस तरह उसका ज़ल्द से ज़ल्द कोई हल पाया जा सके।

सरकारी विभागों की लापरवाहियां, और आम जनता की समस्याओं के प्रति टालमटोल वाला रवैया अक्सर ही देखने में आता है। इससे लोगों को हताश होना पड़ता है, और वे असहाय महसूस करते हैं। क्योंकि उनकी कहीं सुनवाई नहीं होती। मध्य प्रदेश सरकार की जन सुनवाई योजना इसी तथ्य को ध्यान में रखकर बनाई गई है। इस योजना से समाज के सभी वर्गों को लाभ होगा। क्योंकि पोर्टल की सुविधा से आप कहीं से भी अपनी शिकायत ऑनलाइन दर्ज़ करवा सकते हैं। जिससे आप अपनी बात एक पारदर्शी ढंग से मुख्यमंत्री कार्यालय तक पहुंचा सकते हैं। और तब सरकारी विभागों को उस पर तुरंत कार्रवाई के लिये बाध्य होना पड़ता है। यही नहीं, शिकायत करने वाला उस पर कार्रवाई की स्थिति की जानकारी भी समय-समय पर ऑनलाइन माध्यम से ही प्राप्त कर सकता है।

मध्य प्रदेश जन सुनवाई योजना के प्रमुख लाभ संक्षेप में-

१- जन सुनवाई पोर्टल के माध्यम से अब मध्य प्रदेश का कोई भी आम नागरिक घर बैठे, या कहीं से भी ऑनलाइन अपनी शिकायत दर्ज़ कर सकता है। जो सीधे मुख्यमंत्री कार्यालय तक पहुंचती है।

२-  इससे लोगों को सरकारी विभागों के बार-बार चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। और सरकार द्वारा ऊपरी स्तर से निगरानी किये जाने से समस्याओं पर त्वरित कार्रवाई भी सुनिश्चित होगी।

३- मध्य प्रदेश जन सुनवाई पोर्टल के माध्यम से लोगों को अपनी शिकायत पर हो रही विभागीय कार्रवाई की जानकारी लगातार मिलती रहती है।

४- इन सबके अलावा इस योजना का प्रमुख सार्वजनिक लाभ यह है कि इससे सरकारी तंत्र पारदर्शी बनेगा। विभागीय काम आम नागरिकों के प्रति उत्तरदायित्वपूर्ण होंगे। भ्रष्टाचार पर अंकुश लगेगा।

 इस योजना के तहत पोर्टल पर आवेदन/शिकायत पंजीकृत यानी दर्ज़ कराने का तरीका —

१- इस पोर्टल पर अपनी समस्या अथवा शिकायत दर्ज़ कराने के लिये सबसे पहले आपको मध्य प्रदेश जन सुनवाई की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। जहां आपके सामने ‘होमपेज’ खुलकर आयेगा।

२- यहां आपको ‘ऑनलाइन शिकायत दर्ज़ करें’ का विकल्प दिखता है, जिस पर क्लिक करना है।

३- इसके बाद एक नया पेज आपके सामने खुलता है, जिसमें आपका नाम,पता,मोबाइल नं. आदि निजी जानकारियां मांगी जाती हैं। इसके साथ ही समस्या अथवा शिकायत का विवरण भी भरना होता है। यहां हम अपनी समस्या पूरी तरह खुलकर ज़ाहिर कर सकते हैं।

४- इसे भर लेने के बाद ‘सेव’ यानी ‘सुरक्षित करें’ आइकन के विकल्प पर क्लिक करें। ऐसा करते ही आपकी शिकायत मध्य प्रदेश जन सुनवाई पोर्टल पर दर्ज़ हो जायेगी।

मध्य प्रदेश जन सुनवाई पोर्टल पर शिकायत अथवा समस्या दर्ज़ कराने पर अमूमन विभाग द्वारा मुस्तैदी से कार्रवाई की जाती है। फिर भी समय-समय पर अपनी शिकायत पर हो रही कार्रवाई की स्थिति भी इस पोर्टल के माध्यम से ही जानी जा सकती है। इसका तरीका इस तरह है —

१- सबसे पहले मध्य प्रदेश जन सुनवाई पोर्टल के उसी ऑफिशियल होमपेज पर जाना होगा।

२- यहां ‘आवेदन की स्थिति जानें’ विकल्प दिखता है, जिस पर क्लिक करना है।

३- इसके बाद जो पेज आपके सामने खुलता है उसमें मांगी गईं जानकारियां भरनी होती हैं।

४- उपरोक्त जानकारियां भरने के बाद ‘आवेदन की स्थिति जानें’ विकल्प पर क्लिक करना होता है। और इसके साथ ही आपको अपनी शिकायत पर चल रही विभागीय कार्रवाई की ताजा स्थिति पता चल जाती है।

इस तरह मध्य प्रदेश जन सुनवाई पोर्टल के माध्यम से हम अपनी समस्या अथवा शिकायत सीधे सरकार के पास दर्ज़ करा सकते हैं; और उस पर चल रही कार्रवाई की हर पल ख़बर भी रख सकते हैं। इतना ही नहीं, हम इस पोर्टल के माध्यम से अपने सुझावों और विचारों को भी सूबे की सरकार के साथ साझा कर सकते हैं। इसके अलावा यहां जिलों के क्रमवार दिये गये लिंक, यूनीकोड फांट का उपयोग, विभागीय अधिकारियों के लिये एप मॉनिटरिंग सुविधा, जिलों के अपलोड किये गये दस्तावेज़ देखने और पीडीएफ प्रिंट की सुविधा भी मौज़ूद है। ज़ाहिर है कि मध्य प्रदेश सरकार की यह अभिनव योजना आम जनता के लिये बहुत सहूलियत देने वाली है, जिसके तहत वे अपनी बात सीधे मुख्यमंत्री तक पहुंचा सकते हैं। जिन नागरिकों के पास स्मार्ट-फोन की सुविधा उपलब्ध न हो वे नजदीकी सीएससी यानी ‘जनसुविधा केंद्र’ की मदद से मध्य प्रदेश जन सुनवाई पोर्टल का उपयोग कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.