Government Schemes

Hindi – Mukhyamantri Krishak Samridhi Yojana Madhya Pradesh

मध्य प्रदेश का नाम वर्तमान में देश के उन राज्यों में आता है जहां सबसे अधिक कृषि की जाती है। मध्यप्रदेश में रबी और खरीफ दोनों तरह की फसलें प्रचुर मात्रा में होती है लेकिन अगर इसके बावजूद भी मध्य प्रदेश में किसानों की हालत काफी अच्छी नहीं हैं। राज्य में लाखों ऐसे किसान रह रहे हैं जो गरीबी रेखा के नीचे अपना जीवन यापन कर रहे हैं। राज्य के किसानों को समृद्ध बनाने के उद्देश्य से केंद्र सरकार के साथ राज्य सरकार के द्वारा भी कई योजनाएं चलाई जा रही है जिनमें से एक ‘मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री कृषि समृद्धि योजना 2021-22’ भी है जिसके बारे में आज हम इस लेख में बात करने वाले हैं।

मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री कृषि समृद्धि योजना क्या हैं?

मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री कृषि समृद्धि योजना मध्य प्रदेश की राज्य सरकार के द्वारा राज्य में रहने वाले किसानों के हित में शुरू की गई एक बेहतरीन योजना है जिसके अंतर्गत राज्य सरकार के द्वारा गेहूं, चना, मसूर, सरसों और धान की पैदावार करने वाले किसानों की फसलों को बेहतरीन दामो में खरीदा जा रहा हैं जिससे कि किसानों को अधिक लाभ प्राप्त हो सके। मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री कृषि समृद्धि योजना को आसान भाषा में समझा जाए तो यह योजना मध्य प्रदेश की राज्य सरकार के द्वारा चना, गेंहू, सरसो, मसूर और धान उगाने वाले किसानों को बेहतरीन समर्थन मूल्य देने के लिए चलाई जा रही है।

मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री कृषि समृद्धि योजना की शुरुआत मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के द्वारा की गई है और इस योजना के द्वारा किसानों को चना, मसूर, सरसो, धान और गेहूं न केवल किसानों को उनकी मेहनत और लागत के लिए बेहतरीन मूल्य मिल रहा है बल्कि बाजार में फसलों की बढ़ती हुई डिमांड की पूर्ति भी की जा रही है। केंद्र सरकार और राज्य सरकारों के द्वारा वर्तमान में ऐसे कई योजनाएं चलाई जा रही है जो किसानों पर आधारित है और उन्हें कई सुविधाएं देने के साथ उनके मुनाफे को बढ़ाने के लिए काम कर रही है और उन्हीं में से एक बेहतरीन योजना ‘मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री कृषि समृद्धि योजना 2021-22’ भी है।

मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री कृषि समृद्धि योजना का उद्देश्य क्या हैं?

मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री कृषि समृद्धि योजना के द्वारा किसानों को उनकी फसल के लिए बेहतरीन समर्थन मूल्य दिलवाया जा रहा है जिसके चलते वह अपनी लागत की भरपाई कर पा रहे हैं और साथ ही अच्छा मुनाफा भी कमा पा रहे हैं। अगर किसान अपनी फसलों से अच्छा मुनाफा कमा पाएगा तो वह खेती छोड़ने के लिए मजबूर नहीं होगा जिससे कि कहीं न कहीं बेरोजगारी को कम किया जा सकेगा और साथ ही क्षेत्र के द्वारा अन्य रोजगार पैदा किए जा सकेंगे व कृषि क्षेत्र को समृद्ध बनाया जा सकेगा।

इसके अलावा तेजी से बढ़ती जनसंख्या के कारण बाजार में बढ़ रही डिमांड की पूर्ति भी आवश्यक है। ऐसे में किसानों को प्रोत्साहन देने के उद्देश्य से मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री कृषि समृद्धि योजना चलाई जा रही हैं।

मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री कृषि समृद्धि योजना का लाभ क्या हैं?

किसानों को निर्धारित फसलों पर बेहतरीन समर्थन मूल्य दिलवाने के लिए मध्य प्रदेश की राज्य सरकार के द्वारा चलाई जा रही मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री कृषि समृद्धि योजना के अंतर्गत राज्य सरकार काफी अच्छा खासा बजट खर्च कर रही है। दरअसल पिछले कुछ सालों में बेहतरीन नेतृत्व के चलते भारत में एग्रीकल्चर का क्षेत्र काफी आगे बढ़ रहा है और क्योंकि भारत एक कृषि प्रधान देश माना जाता है तो भारत में सटीक रूप से विकास हेतु किसानों की समृद्धि भी आवश्यक है जिसके चलते केंद्र सरकार और राज्य सरकार किसानों के हित में कई काम कर रही है।

मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री कृषि समृद्धि योजना से किसानों को मिल रहे लाभ कुछ इस प्रकार है:

• योजना के अंतगर्त किसानों को उनकी फसल के लिए बेहतरीन समर्थन मूल्य उपलब्ध करवाया जा रहा हैं।

• इस योजना के द्वारा किसानों को कम लागत में जुड़ मुनाफा कमाने का मौका मिलेगा।

• योजना का लाभ प्रत्यक्ष तौर ओर मंडियों में उपलब्ध करवाया इन रहा हैं और हजारो किसान योजना का लाभ उठा रहे हैं।

• डिजिटाइजेशन के दौर में योजना का लाभ उठाने वाले किसानों को समर्थन मूल्य में बनी राशि सीधे उनके बैंक अकाउंट में प्रोवाइड करवाई जा रही हैं।

मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री कृषि समृद्धि योजना के मुख्य बिंदु

• 2016-17 में गेहूं की न्यूनतम समर्थन मूल्य पर ₹200 प्रति क्विंटल की प्रोत्साहन राशि प्रदान की गई थी।

• 2017-18 में गेहूं की न्यूनतम समर्थन मूल्य पर ₹265 प्रति क्विंटल की प्रोत्साहन राशि प्रदान की गई थी जो सीधे किसानों के बैंक खातों में उन्हें दी गयी।

• 2017 -2018 में चना, मसूर एवं सरसों देखने वाले किसानों को सो रुपए प्रति कुंटल की प्रोत्साहन राशि प्रदान की गई।

मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री कृषि समृद्धि योजना के लिए निर्धारित पात्रता

अगर आप मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री कृषि समृद्धि योजना का लाभ उठाना चाहते हो तो इसके लिए आपको किसी तरह की पात्रता को पार करने की जरूरत नहीं है क्योंकि जो भी किसान उपार्जन पंजीयन पोर्टल पर रजिस्टर्ड है उन्हें इस योजना का लाभ आसानी से दे दिया जाएगा।

मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री कृषि समृद्धि योजना का लाभ उठाने के आवश्यक दस्तावेज

मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री कृषि समृद्धि योजना का लाभ उठाने के लिए आपको कुछ दस्तावेजों की आवश्यकता पड़ेगी, जो कुछ इस प्रकार है:

• ई – उपर्जन का पंजीयन

• आधार कार्ड की फोटोकॉपी

• अन्य मंडी के दस्तावेज

• प्रवेश पर्ची

• तोल पर्ची

• अनुबंध पर्ची

• भुगतान पर्ची

इसके अलावा एक पात्रता यह भी है कि आपके पास एक्टिव मोबाइल नंबर होना चाहिए।

मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री कृषि समृद्धि योजना के लिए आवेदन कैसे करें?

मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री कृषि समृद्धि योजना का लाभ उठाने के लिए आपको मध्य प्रदेश की राज्य सरकार के द्वारा आधिकारिक तौर पर लांच किए गए एमपी ई उपार्जन पोर्टल पर जाकर पंजीयन करना होगा। इसके लिए आपको पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा और वहां मांगी गई जानकारी देकर अपना अकाउंट बनाना होगा। पोर्टल पर अकाउंट बनाने अर्थात पंजीकरण के बाद आपको वहां पर योजना के लिए आवेदन करने का विकल्प मिल जाएगा जिसमें आपको अपनी सभी जानकारी और अब से दस्तावेजों की स्कैंड कॉपी अपलोड करनी होगी। जो कि वर्तमान में डिजिटलाइजेशन का दौर है तो योजना का लाभ भी सीधे किसानों के बैंक अकाउंट में प्रदान किया जाता है।

उम्मीद हैं हमारे यह लेख आपको पसंद आया होगा जिसमे हमने ‘मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री कृषि समृद्धि योजना 2021-22’ की पूरी जानकारी आसान भाषा में दी है। अगर आपको अभी इस योजना से जुड़ा हुआ कोई सवाल है तो कमेंट बॉक्स के माध्यम से आप हमसे बेझिझक होकर पूछ सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.