Government Schemes

Hindi – RTE MP Admission 2021-22 List Madhya Pradesh

‘आरटीई मध्य प्रदेश प्रवेश- 2021-22 सभी को, विशेषतः आर्थिक रूप से कमजोर व आरक्षित वर्ग जैसे– अनुसूचित जाति/जनजाति व अन्य पिछड़ा वर्ग के बच्चों को अनिवार्य और मुफ़्त शिक्षा प्रदान करने के लिये सरकार लेकर आई है। इसके लिये सरकार का आधिकारिक पोर्टल–rteportal.mp.gov.in है।

‘मुफ़्त व अनिवार्य शिक्षा का अधिकार’ नियम के अंतर्गत भारत सरकार की नियमावली के मुताबिक प्रत्येक निजी गैर-सरकारी विनियमित विद्यालय को आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों हेतु अपनी पच्चीस फ़ीसदी सीटें आरक्षित रखनी होंगी। ताकि सामाजिक तौर पर उपेक्षित रहे इन तबकों के बालकों को भी आधुनिक व गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान कर उन्हें सभ्य समाज की मुख्य धारा से जोड़ा जा सके।

गौरतलब है कि संविधान के अनुच्छेद 21-A के तहत 6 से 14 वर्ष के बालक/बालिकाओं को मुफ़्त व अनिवार्य शिक्षा प्रदान कराने को लक्षित ‘शिक्षा का अधिकार अधिनियम’ भारत में 4 अगस्त, 2009 से लागू है।

आरटीई मध्य प्रदेश प्रवेश ऑनलाइन प्रक्रिया

‘आरटीई एडमिशन मध्य प्रदेश एजूकेशन पोर्टल’ पर इसमें प्रवेश के लिये फॉर्म अक्सर अप्रैल-मई में आमंत्रित किये जाते हैं। इस योजना के तहत विद्दालयों में प्रवेश पाने के इच्छुक लोग इस पोर्टल पर तत्संबंधी सारी जानकारियां प्राप्त कर सकते हैं। मध्य प्रदेश सरकार सभी निजी विनियमित गैर सरकारी विद्दालयों के माध्यम से ‘शिक्षा का अधिकार अधिनियम’ के अंतर्गत आठ तक की शिक्षा पूरी तरह निःशुल्क प्रदान करती है।

जिन पात्र बच्चों की आयु तीन से सात वर्ष के बीच है, उनके माता-पिता अथवा परिजन rteportal.mp.gov.in पर प्रवेश के लिये आवेदन जमा कर सकते हैं। आरटीई के तहत सभी स्कूलों को आर्थिक रूप से पिछड़े व असमर्थ तबके हेतु 25 प्रतिशत सीटें सुरक्षित रखनी होती है।

‘आरटीई मध्य प्रदेश प्रवेश’ के ज़रिये विभिन्न विद्दालयों में दाखिला पाने हेतु ज़ुरूरी दस्तावेज़ और पात्रता’

दस्तावेज़

1- अधिवास प्रमाण-पत्र,

2- आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के लिये ज़ारी होने वाला बीपीएल/अंत्योदय कार्ड,

पात्रता —

1- अनुसूचित जाति/जनजाति व विमुक्त जाट तबके के बच्चों को उन्नत शिक्षा प्रदान कराने संबंधी यह सुविधा अनिवार्यतः मिलेगी।

2- वन-भूमि के पट्टाधारक भी इस योजना के पात्र हैं।

3- इसके अलावा वे बच्चे, जो 40 प्रतिशत से अधिक विकलांगता से ग्रस्त हो चुके हैं, एचआईवी संक्रमित बच्चे और महिला व बाल विकास अधिकारी द्वारा सत्यापित अनाथ बच्चे भी शिक्षा का अधिकार योजना में पात्र हैं।

‘आरटीई मध्य प्रदेश प्रवेश’ योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया

1- सबसे पहले इस योजना से संबंधित मध्य प्रदेश सरकार की आधिकारिक वेबसाइट पर जायें। इसके लिये इस लिंक पर क्लिक करें — http://educationportal.mp.gov.in

2- होमपेज खुलने पर ‘आरटीई प्रवेश’ विकल्प पर क्लिक करें।

3- आगे बढ़ने से पहले दिये गये सभी आवश्यक दिशानिर्देशों को ध्यान से पढ़ लें।

4- अब ‘ऑनलाइन आवेदन पत्र’ पर क्लिक करें।

5- अब आपके सामने आवेदन-फॉर्म खुलकर आ जायेगा। इसमें अपना सभी विवरण यथोचित रूप से भरें; और इसे जमा करने के लिये ‘सबमिट’ बटन पर क्लिक करें।

इस तरह आपकी आवेदन-प्रक्रिया सफलतापूर्वक संपन्न हो जाती है। जिसके बाद संबंधित प्राधिकरण द्वारा ‘लॉटरी-ड्रॉ’ के ज़रिये मेरिट-लिस्ट तैयार की जायेगी। इसमें चयनित लाभार्थी अपने इच्छित स्कूलों में प्रवेश ले सकेंगे। इसके लिये अंतिम चरण में प्राधिकरण द्वारा प्रवेश-पत्र प्रदान किया जाता है।

 ‘लॉटरी-ड्रॉ’ के परिणाम और मेरिट-लिस्ट देखने की प्रक्रिया

1- सबसे पहले तत्संबंधी आधिकारिक वेबसाइट पर जाने हेतु –http://rteportal.mp.gov.in पर क्लिक करें।

2- यहां ‘प्रवेश चेक-इन’ विकल्प पर क्लिक करना है।

3- अब अपना रजिस्ट्रेशन नं. व पासवर्ड भरें, और ‘एंटर’ बटन पर क्लिक करें

4- अब दिखाई गयी सूची में खोजने के लिये आवेदक बच्चे का नाम भरें, और देखें।

इस तरह आप ऑनलाइन देख सकते हैं कि किसी बच्चे का नाम ‘लॉटरी-ड्रॉ’ से मेरिट-लिस्ट में आया है या नहीं।

इसके अतिरिक्त, ‘आरटीई मध्य प्रदेश प्रवेश’ हेतु विद्दालयों की लिस्ट देखना चाहते हैं तो —

1- सबसे पहले आपको इसकी आधिकारिक वेबसाइट — http://rteportal.mp.gov.in पर जायें।

2- यहां ‘एडमिशन इन स्कूल’ विकल्प चुनें।

3- दिये गये स्कूल-कोड व ‘कैप्चा’ टाइप करें, और प्रवेश-सूची पर क्लिक करें।

4- अब ‘आरटीई मध्य प्रदेश प्रवेश’ योजना के अंतर्गत आने वाले विद्दालयों की लिस्ट आपके सामने होगी।

 स्कूलों की यह लिस्ट समय-समय पर अपडेट होती रहती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.