रैपिड रिपोर्टिंग सिस्टम योजना किशोरावस्था लड़कियों (Adolescent Girls) के लिए योजना के उद्देश्य, लाभ और अन्य जानकारी

एकीकृत बाल विकास योजना (आईसीडीएस) के तहत मौजूदा आंगनवाड़ी केंद्रों (एडब्ल्यूसी) के माध्यम से लागू की गई रैपिड रिपोर्टिंग सिस्टम स्कीम (एसएजी) किशोरावस्था लड़कियों (11 से 14 वर्ष की आयु के बीच लड़कियों) के लिए है. जिसका मुख्य उद्देश्य पोषण घटक के तहत औपचारिक स्कूली शिक्षा या कौशल प्रशिक्षण के लिए वापस जाने के लिए प्रेरित करना है. इस योजना के तहत 11-14 साल के आयु वर्ग की पुरे पोषण के हकदार हैं उन्हें जीवन कौशल शिक्षा, पोषण और स्वास्थ्य शिक्षा, सामाजिक-कानूनी मुद्दों, मौजूदा सार्वजनिक सेवाओं आदि के बारे में जागरूकता होनी चाहिए.

योजना के उद्देश्य और लाभ:
किशोरावस्था लड़कियों (एजी) को सशक्त और शिक्षित करना ताकी वे आत्मनिर्भर और जागरूक नागरिक बने.
लड़कियों को स्व-विकास और सशक्तिकरण के लिए
उनकी पोषण और स्वास्थ्य की स्थिति में सुधार करने के लिए
स्वास्थ्य, स्वच्छता, पोषण के बारे में जागरूकता को बढ़ावा देना
औपचारिक स्कूली शिक्षा या पुल सीखने / कौशल प्रशिक्षण में सफलतापूर्वक संक्रमण करने के लिए
प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों, ग्रामीण अस्पताल इत्यादि जैसी मौजूदा सार्वजनिक सेवाओं के बारे में जानकारी / मार्गदर्शन प्रदान करना

अन्य महत्वपूर्ण जानकारी
यह योजना एकीकृत बाल विकास योजना (आईसीडीएस) के तहत मौजूदा आंगनवाड़ी केंद्रों (एडब्ल्यूसी) के माध्यम से लागू की जाएगी
205 जिलों में लागू किशोर लड़कियों (एसएजी) के लिए योजना चरणबद्ध तरीके से विस्तारित की जाएगी
सूची 1 में 205 जिलों में लागू होगी और सूची 2 303 जिलों को चुना गया है|

इन्हें भी देखें:
Pradhan Mantri Surakshit Sadak Yojana
UJWAL Discom Assurance Yojana
Shyam Prasad Mukherjee Rurban