Set-11 RPSC Questions in Hindi

Preparation here for part-11 Rajasthan Public Service Commission exam previous solved paper. Collect set-11 RPSC questions and answers of previous year in Hindi.

सेट-11 राजस्थान लोक सेवा आयोग परीक्षा की प्रश्नोत्तरी

प्रश्न 1. खो-दरीबा क्षेत्र _________ के लिए प्रसिद्द हैं-
क. तांबे की खानों
ख. लोहा अयस्क खानों
ग. चुने के पत्थर की प्रचुरता
घ. कोयले की खानों

Show Answer
उत्तर: तांबे की खानों

प्रश्न 2. ‘नाथरा-का-पाल’ में किस धात्विक खानिस के भण्डार हैं?
क. सीसा
ख. टंगस्टन
ग. लोहा
घ. तांबा

Show Answer
उत्तर: लोहा

प्रश्न 3. निम्नलिखित में से कौनसी एक प्रजाति भेड़ की की नहीं हैं?
क. मेगरा
ख. मालपुरी
ग. बागड़ी
घ. नाचना

Show Answer
उत्तर: नाचना

प्रश्न 4. ‘सेई परियोजना’ का सम्बन्ध निम्नलिखित में से किस बाँध से हैं?
क. जवाहर सागर बाँध
ख. हरिके बांध
ग. जवाई बाँध
घ. गांधी सागर बाँध

Show Answer
उत्तर: गांधी सागर बाँध

प्रश्न 5. निम्नलिखित में से कौनसा एक मरुस्थलीकरण का कारण नहीं हैं?
क. कठोर मौसमी परिस्थितियों
ख. बढती आबादी
ग. वनोन्मुलन
घ. अम्लीय भूमि का प्रयोग करना

Show Answer
उत्तर: अम्लीय भूमि का प्रयोग करना

प्रश्न 6. निम्नलिखित में से कौनसा क्षेत्र राजस्थान में Bshw प्रकार की जलवायु दर्शाता हैं?
क. अरावली के उत्तर का भाग
ख. अरावली के दक्षिण का भाग
ग. अरावली के पूर्व का भाग
घ. अरावली के पश्चिम का भाग

Show Answer
उत्तर: अरावली के पश्चिम का भाग

प्रश्न 7. “रोतू” राजस्थान के ____________ जिले का आरक्षित वन्य क्षेत्र हैं.
क. बीकानेर
ख. चोत्तोड़गण
ग. चुरू
घ. नागौर

Show Answer
उत्तर: नागौर

प्रश्न 8. अगुंचा-गुलाबपुरा खनन क्षेत्र निम्नलिखित में से खनिजों के किस जोड़े के लिए प्रसिद्द हैं?
क. Zn-Pb
ख. Mg-Mn
ग. Fe-Ni
घ. Ag-Au

Show Answer
उत्तर: Zn-Pb

प्रश्न 9. नोहर नहर परियोजना को निम्नलिखित में से किस स्त्रोत से जल मिलता हैं?
क. रवि-ब्यास
ख. सतलुज
ग. बीसलपुर
घ. पांचना

Show Answer
उत्तर: रवि-ब्यास

प्रश्न 10. राजस्थान राज्य में पानी लेखा परीक्षा का मुख्य उद्देश्य क्या हैं?
क. जल सम्बन्ध संरचनाओं की प्रभावोत्पादकता, रखरखाव और सुरक्षा
ख. शेहरी जल संरक्षण
ग. नगर निगम और ओघोगिक जल संरक्षण
घ. ग्रामीण और कृषि सम्बंधित जल संरक्षण

Show Answer
उत्तर: जल सम्बन्ध संरचनाओं की प्रभावोत्पादकता, रखरखाव और सुरक्षा

Next 

Previous