यूपीपीएससी पाठ्यक्रम एवं पैटर्न: प्रीलिम्स और मेन्स सिलेबस PDF में

यूपीपीएससी सिलेबस

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (UPPSC) द्वारा यूपीपीसीएस प्रीलिम्स और मेन्स सिलेबस जारी किया जाता है. यूपी पीसीएस राज्य स्तर की सबसे प्रतिष्ठित सरकारी नौकरी परीक्षा में से एक है जिसमे पीसीएस की तैयारी कर रहे कैंडिडेट्स के लिए पीसीएस का सिलेबस मदद करता है.

UPPSC PCS परीक्षा में तीन चरणों में आयोजित की जाती है 1. प्रारंभिक परीक्षा [वस्तुनिष्ठ प्रकार और बहुविकल्पी], 2. मुख्य परीक्षा [पारंपरिक प्रकार, लिखित परीक्षा] एवं 3. साक्षात्कार [व्यक्तित्व परीक्षण. इन सभी पड़ावों को क्वालीफाई करने के बाद ही कैंडिडेट का चयन यूपीपीसीएस में होता है. यूपीपीएससी पीसीएस सिलेबस और परीक्षा पैटर्न की मदद से उम्मीदवार परीक्षा में पूछे जाने वाले विषयों के बारे में पहले से जागरूक रहते है ताकि उन्हें परीक्षा के अभ्यास करने में कोई दिक्कत का सामना न करना पड़े.

यूपीपीएससी पीसीएस पाठ्यक्रम एवं पैटर्न कैसा होता है?

जैसे की हम ऊपर बता चुके है यूपीपीएससी पीसीएस की परीक्षा को तीन भागों में आयोजित किया जाता है प्रारंभिक (prelims), मुख्य (mains) और साक्षात्कार (interview)। जिसमे 2 परीक्षाएं होती है पहला जनरल नॉलेज या जनरल अवेयरनेस और ट्रेंड में चल रहे करंट अफेयर्स पर उत्तर प्रदेश राज्य पर आधारित 150 प्रश्न, इस पेपर के लिए कुल 200 अंको दिए जाते है.

अब दुसरे पेपर में “सी- सैट” होता है इस परीक्षा में मेंटल एबिलिटी, और सामान्य मैथ्स के प्रश्न होते है जिसमे नेगेटिव मार्किंग का भी प्रावधान है. इस पेपर में कुल 100 प्रश्न होते है जोकि 200 अंकों के होते है.

यूपी पीसीएस प्रिलिम्स परीक्षा का सिलेबस

सामान्य अध्ययन 1

  • राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय सामयिक मामले
  • भारत का इतिहास
  • भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन
  • स्वतंत्रता आंदोलन
  • भारतीय इतिहास के सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक पहलू
  • राष्ट्रवाद का विकास
  • स्वतंत्रता प्राप्ति

भारतीय और विश्व भूगोल

  • भारत का भौतिक, सामाजिक और आर्थिक भूगोल

भारतीय राजव्यवस्था और शासन

  • पंचायती राज
  • संविधान
  • राजनीतिक प्रणाली
  • सार्वजनिक नीति
  • अधिकार के मुद्दे, आदि

आर्थिक और सामाजिक विकास

  • सतत विकास
  • सामाजिक क्षेत्र की पहल
  • गरीबी समावेशन
  • जैव विविधता
  • जलवायु परिवर्तन, आदि।

सामान्य विज्ञान

  • भौतिक विज्ञान
  • रसायन विज्ञान
  • जीवविज्ञान

सामान्य अध्ययन 2

कॉम्प्रिहेंसन

  • तार्किक तर्क
  • विश्लेषणात्मक क्षमता

निर्णय कौशल और समस्या-समाधान

  • सामान्य मानसिक क्षमता

कक्षा 10 तक की शुरुआती गणित

  • अंकगणित
  • बीजगणित
  • ज्यामिति
  • सांख्यिकी

कक्षा 10 तक की सामान्य अंग्रेजी

  • Comprehension
  • Direct & indirect speech
  • Punctuation & spellings
  • Active voice & passive voice
  • Parts of speech
  • Transformation of sentences
  • Words meanings
  • Vocabulary & usage
  • Idioms & phrases
  • Fill in the blanks

कक्षा 10 तक की सामान्य हिंदी

  • हिंदी वर्णमाला
  • संधि, समास
  • क्रिया
  • अनेकार्थी शब्द
  • विलोम शब्द
  • तत्सम, तद्भव, देशज, विदेशी
  • शब्द रचना, वाक्य रचना, अर्थ
  • शब्द रूप
  • पर्यायवाची शब्द
  • मुहावरे
  • लोकोक्तियां आदि

यूपीपीएससी पीसीएस पाठ्यक्रम

उत्तर प्रदेश पीएससी की मुख्या परीक्षा कुल 1500 अंको की होती है जिसमे आठ पेपर होते है इस परीक्षा में सामान्य हिंदी, निबंध, सामान्य अध्ययन और वैकल्पिक विषयों से प्रश्न पूछते जाते है. इस परीक्षा में गलत उत्तर देने पर कोई भी नेगेटिव मार्किंग नहीं होती है. निचे यूपीपीएससी पीसीएस सिलेबस के विषय और टॉपिक सूचि जारी की है जरा इसपर ध्यान दें.

सामान्य हिंदी

  • शब्द ज्ञान एवं प्रयोग
  • उपसर्ग एवं प्रत्यय प्रयोग
  • विलोम शब्द
  • वाक्यांश के लिए एक शब्द
  • वर्तनी एवं वाक्य शुद्धि
  • सरकारी एवं अर्धसरकारी पत्र लेखन
  • दिए हुए गद्य का अवबोध एवं प्रश्नोत्तर
  • संक्षेपण
  • तार लेखन, कार्यालय आदेश
  • अधिसूचना, परिपत्र
  • लोकोक्ति एवं मुहावरे आदि।

निबंध

सेक्शन – ए

  • कला और संस्कृति
  • सामाजिक
  • राजनैतिक

सेक्शन – बी

  • विज्ञान, पर्यावरण और प्रौद्योगिकी
  • अर्थशास्त्र
  • कृषि, उद्योग और व्यापार

सेक्शन – सी

  • राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय घटनाएं
  • प्राकृतिक आपदा, सूखा, भूस्खलन, भूकंप, बाढ़ आदि।

जीएस 1

  • भारतीय संस्कृति का इतिहास, प्राचीन काल से आधुनिक काल तक के कला रूपों, साहित्य और वास्तुकला के प्रमुख पहलू।
  • स्वतंत्रता संग्राम
  • स्वतंत्रता के बाद देश में सशक्तीकरण और पुनर्गठन (वर्ष 1965 तक)
  • आधुनिक भारतीय इतिहास (सन् 1757 से 1947 तक)
  • विश्व इतिहास
  • भारतीय समाज और संस्कृति की प्रमुख विशेषताएं
  • समाज और महिला संगठनों में महिलाओं की भूमिका
  • उदारीकरण, निजीकरण और वैश्वीकरण का अर्थ और अर्थव्यवस्था, राजनीति और सामाजिक संरचना पर उनके प्रभाव
  • सामाजिक सशक्तीकरण, सांप्रदायिकता, क्षेत्रवाद और धर्मनिरपेक्षता।
  • दुनिया के प्रमुख प्राकृतिक संसाधनों का वितरण
  • भौतिक भूगोल की मुख्य विशेषताएं
  • भारत के समुद्री संसाधन और उनकी क्षमता
  • मानव पलायन
  • जनसंख्या और बस्तियाँ
  • उत्तर प्रदेश का विशिष्ट ज्ञान

जीएस 2

  • भारतीय संविधान – ऐतिहासिक आधार, विकास, विशेषताएं, संशोधन, बुनियादी संरचना, सर्वोच्च न्यायालय की भूमिका
  • संघ और राज्यों के कार्य और जिम्मेदारियां
  • केंद्र में वित्त आयोग की भूमिका – राज्य वित्तीय संबंध
  • शक्तियों का विभाजन
  • वैकल्पिक विवाद निवारण तंत्र का उदय और उपयोग।
  • अन्य प्रमुख लोकतांत्रिक देशों के साथ भारतीय संवैधानिक योजना की तुलना
  • संसद और राज्य विधानसभाएँ
  • कार्यपालिका और न्यायपालिका की संरचना, संगठन और कार्यप्रणाली
  • जनप्रतिनिधित्व अधिनियम की मुख्य विशेषताएं।
  • विभिन्न संवैधानिक पदों पर नियुक्ति, शक्तियां, कार्य और उनके उत्तरदायित्व।
  • सांविधिक, विनियामक और विभिन्न अर्ध न्यायिक निकाय, इसमें नीति आयोग शामिल, उनकी विशेषताएं और कार्यप्रणाली
  • विभिन्न क्षेत्रों और मुद्दों में विकास के लिए सरकार की नीतियां और हस्तक्षेप
  • विकास की प्रक्रिया
  • केंद्र और राज्यों द्वारा जनसंख्या के कमजोर वर्गों के लिए कल्याणकारी योजनाएं
  • गरीबी और भुखमरी से संबंधित मुद्दे, देश पर उनके निहितार्थ।
  • शासन के महत्वपूर्ण पहलू
  • लोकतंत्र में सिविल सेवाओं की भूमिका
  • भारत और पड़ोसी देशों के साथ इसके संबंध
  • द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और वैश्विक समूह और समझौते
  • विकसित और विकासशील देशों की नीतियों और राजनीति प्रभाव
  • महत्वपूर्ण अंतर्राष्ट्रीय संस्थाएं
  • उत्तर प्रदेश का विशिष्ट ज्ञान
  • क्षेत्रीय, राज्य, राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय महत्व की वर्तमान घटनाएं और मामले

जीएस 3

  • भारत में आर्थिक नियोजन, उद्देश्य और उपलब्धियाँ
  • नीति आयोग की भूमिका
  • सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजी) का उद्देश्य
  • गरीबी, बेरोजगारी के मुद्दे
  • सामाजिक न्याय और समावेशी विकास
  • सरकारी बजट और वित्तीय प्रणाली के घटक
  • प्रमुख फसलें, विभिन्न प्रकार की सिंचाई और सिंचाई प्रणाली, कृषि उपज का भंडारण, परिवहन और विपणन, किसानों की सहायता में ई-तकनीक।
  • प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष कृषि सब्सिडी और न्यूनतम समर्थन मूल्य से संबंधित मुद्दे
  • सार्वजनिक वितरण प्रणाली
  • भारत में खाद्य प्रसंस्करण और संबंधित उद्योग
  • स्वतंत्रता के बाद से भारत में भूमि सुधार।
  • अर्थव्यवस्था पर उदारीकरण और वैश्वीकरण के प्रभाव, औद्योगिक नीति में परिवर्तन और औद्योगिक विकास पर उनके प्रभाव।
  • बुनियादी ढांचा
  • विज्ञान और तकनीक
  • विज्ञान और प्रौद्योगिकी में भारतीयों की उपलब्धियां, प्रौद्योगिकी का स्वदेशीकरण
  • आईसीटी और अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी, कंप्यूटर, ऊर्जा संसाधन, नैनो प्रौद्योगिकी, सूक्ष्म जीव विज्ञान, जैव प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में जागरूकता। आईपीआर और डिजिटल अधिकारों से संबंधित मुद्दे
  • पर्यावरण सुरक्षा और पारिस्थितिकी तंत्र
  • एक अपारंपरिक सुरक्षा और सुरक्षा चुनौती के रूप में आपदा, आपदा न्यूनीकरण और प्रबंधन।
  • अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा की चुनौतियां: परमाणु प्रसार, अतिवाद, संचार नेटवर्क, मीडिया और सामाजिक नेटवर्किंग की भूमिका, साइबर सुरक्षा, मनी लॉन्ड्रिंग और मानव तस्करी के मुद्दों की मूल बातें।
  • भारत की आंतरिक सुरक्षा चुनौतियां
  • कृषि, बागवानी, वानिकी और पशुपालन के मुद्दे
  • यूपी के विशेष संदर्भ में कानून और व्यवस्था और नागरिक सुरक्षा।

जीएस 4

  • नैतिकता और मानव संपर्क
  • रवैया
  • सिविल सेवा के लिए योग्यता और मूलभूत मूल्य
  • भावनात्मक बुद्धि
  • भारत और दुनिया के नैतिक विचारकों और दार्शनिकों का योगदान
  • लोक / सिविल सेवा मान और लोक प्रशासन में नैतिकता
  • शासन में संभावना
  • उपरोक्त मुद्दों पर केस स्टडी

यूपीपीएससी मुख्य परीक्षा पैटर्न

पेपरसब्जेक्ट्समैक्सिमम मार्क्सपेपर
पेपर 1सामान्य हिंदी1503 घंटे
पेपर 2निबंध1503 घंटे
पेपर 3सामान्य अध्ययन 12003 घंटे
पेपर 4सामान्य अध्ययन 22003 घंटे
पेपर 5सामान्य अध्ययन 32003 घंटे
पेपर 6सामान्य अध्ययन 42003 घंटे
पेपर 7वैकल्पिक विषय पेपर 12003 घंटे
पेपर 8वैकल्पिक विषय पेपर 22003 घंटे

यूपीएससी परीक्षा पाठ्यक्रम

Leave a Comment