भारत के राष्‍ट्रीय आंदोलन वर्ष व घटनाएं | सामान्य ज्ञान हिंदी (Samanya Gyan)

 

आंदोलन एवं घटनाएं वर्ष संबंधित विषय एवं व्‍यक्ति
भारतीय राष्‍ट्रीय कांग्रेस की स्‍थापना 1885 ए ओ ह्यूम (बम्‍बई)
बंग-भंग आंदोलन (स्‍वदेशी आंदोलन) 1905 बंगाल के विभाजन के विरुद्ध
मुस्लिम लीग की स्‍थापना 1906 आगा खां एवं सलीम उल्‍ला खां (ढाका)
कांग्रेस का विभाजन 1907 नरम एवं गरम दल में विभाजित (सूरत फूट)
होमरूल आंदोलन 1916 तिलक एवं ऐनी बेसेंट
लखनऊ पैक्‍ट दिसंबर 1916 कांग्रेस तथा मुस्लिम लीग के बीच समझौता
मांटेग्‍यू घोषणा 20 अगस्‍त 1917 भारत मंत्री लॉर्ड मोंटेग्‍यू की घोषणा
रोलैक्‍ट एक्‍ट 19 मार्च 1919 काला कानून, जिसके अंतर्गत किसी भी व्‍यक्ति को संदेह के आधार पर गिरफ्तार किया जा सकता था
जालियांवाला बाग हत्‍याकांड 13 अप्रैल1919 जेनरल डायर (अमृतसर)
खिलाफत आंदोलन 1920 शौकत अली, मोहम्‍मद अली
हंटर कमेटी की रिपोर्ट प्रकाशित 28 मई 1920 जालियांवाला बाग से संबंधित
कांग्रेस का नागपुर का अधिवेशन दिसंबर, 1920 असहयोग आंदोलन का प्रस्‍ताव पारित
असहयोग आंदोलन का आरंभ 1 अगस्‍त 1920 महात्‍मा गांधी
चौरी-चौरा कांड 5 फरवरी1922 गोरखपुर जिले (उत्तर प्रदेश) की इस घटना के बाद असहयोग आंदोलन स्‍थगित
स्‍वराज पार्टी की स्‍थापना 1 जनवरी1923 मोती लाल नेहरू एवं चितरंजन दास
हिन्‍दुस्‍तान रिपल्बिकन एसोसिएशन अक्‍टूबर 1924 शचींद्र संन्‍याल
साइमन कमीशन की नियुक्ति 8 नवंबर1927 जॉन साइमन की अध्‍यक्षता में सात सदस्‍यीय आयोग का गठन
साइमन कमीशन का भारत आगमन 3 फरवरी1928 भारत में लाला लाजपत राय के नेतृत्‍व में विरोध और उन पर लाठी प्रहार
नेहरू रिपोर्ट अगस्‍त, 1928 पंडित मोतीलाल नेहरू अध्‍यक्ष
बारदौली सत्‍याग्रह अक्‍टूबर, 1928 गुजरात के किसानों का लगान-वृद्धि के विरोध में सरदार वल्‍लभ भाई के नेतृत्‍व में आंदोलन
लाहौर षड्यंत्र केस 8 अप्रैल 1929 भगत सिंह और बटुकेश्‍वर दत्त द्वारा ब्रिटिश असेम्‍बली में बम फेंकना
कांग्रेस का लाहौर अधिवेशन दिसंबर, 1929 पूर्ण स्‍वाधीनता का प्रस्‍ताव
नमक सत्‍याग्रह 12 मार्च, 1930 से 5 अप्रैल, 1930 महात्‍मा गांधी के द्वारा साबरमती आश्रम से डांडी जाकर नमक बनाकर नमक कानून का उल्‍लंघन करना
सविनय अवज्ञा आंदोलन 6 अप्रैल, 1930 सविनय अवज्ञा आंदोलन की शुरुआत
प्रथम गोलमेज सम्‍मेलन 12 नवंबर1930 प्रधानमंत्री मैकडोनाल्‍ड की अध्‍यक्षता में लंदन में आयोजित
गांधी-इरविन समझौता 8 मार्च, 1931 महात्‍मा गांधी और वायसराय इरविन के मध्‍य संपन्‍न और सविनय अवज्ञा आंदोलन स्‍थगित करने की घोषणा
द्वितीय गोलमेज सम्‍मेलन 7 सितंबर, 1931 गांधीजी ने सम्‍मेलन में भाग लिया
कम्‍यूनल अवॉर्ड (सांप्रदायिक पंचाट) 16 अगस्‍त, 1932 मैकडोनाल्‍ड द्वारा पृथक प्रतिनिधित्‍व प्रदान करना
पूना पैक्‍ट सितंबर, 1932 गांधी जी और डॉक्‍टर अंबेडकर के बीच एक समझौता, जिसके तहत सांप्रदायिक पंचाट में दलितों के लिए प्रांतीय व्‍यवस्‍थापिका सभाओं में प्रारंभ में राज्‍यों में 71 स्‍थान सुरक्षित किए गए थे, जो अब बढ़ाकर 148 कर दिए गए.
तृतीय गोलमेज सम्‍मेलन 17 नवंबर1932 इसमें कांग्रेस ने भाग नहीं लिया
कांग्रेस सोशलिस्‍ट पार्टी का गठन मई, 1934 जयप्रकाश नारायण, मीनू मसानी और एमएम जोशी
फॉरवर्ड ब्‍लॉक का गठन 1 मई 1939 सुभाष चंद्र बोस
मुक्ति दिवस 22 दिसंबर, 1999 मुस्लिम लीग के द्वारा कांग्रेस मंत्रिमंडलों के त्‍याग पत्र पर मनाया गया
पाकिस्‍तान की मांग 24 मार्च, 1940 मुस्लिम लीग के लाहौर अधिवेशन में
अगस्‍त प्रस्‍ताव 8 अगस्‍त 1940 वायसराय लिनलिथगो
क्रिप्‍स मिशन का प्रस्‍ताव मार्च, 1942 स्‍टीफर्ड क्रिप्‍स
भारत छोड़ो प्रस्‍ताव 8 अगस्‍त 1942 महात्‍मा गांधी
शिमला सम्‍मेलन 25 जून 1945 सभी राजनैतिक दलों का सम्‍मेलन
नौसेना का विद्रोह 19 फरवरी 1946 मुंबई
प्रधानमंत्री एटली की घोषणा 15 मार्च 1946 भारत को स्‍वतंत्र करने का आश्‍वासन
कैबिनेट मिशन का आगमन 24 मार्च 1946 ब्रिटिश मंत्रिमंडल के तीन सदस्‍यों- पैथिक लॉरेंस, सर स्‍टीफोर्ड क्रिप्‍स और एबी एलेक्‍जैंडर का भारत आगमन कैबिनेट मिशन, कैबिनेट मिशन योजना का प्रकाशन 16 मई, 1946 को हुआ
प्रत्‍यक्ष कार्यवाही दिवस 16 अगस्‍त 1946 मुस्लिम लीग द्वारा
अंतरिम सरकार की स्‍थापना 2 सितंबर 1946 नेहरू प्रधानमंत्री बने
माउंटबेटन योजना 3 जून 1947 वायसराय माउंटबेटन ने भारत विभाजन योजना रखी
स्‍वतंत्रता की प्राप्ति 15 अगस्‍त 1947 भारत स्‍वतंत्रता अधिनियम द्वारा
भारतीय गणतंत्र की स्‍थापना 26 जनवरी 1950 डॉक्‍टर राजेंद्र प्रसाद प्रथम राष्‍ट्रपति