Samanya Gyan

Sources of Income of Municipal Corporation in Hindi

नगर निगम को अपने विभिन्न कार्यों को संपादित करने के लिए जितनी धन-राशी की आवश्यकता पड़ती है, उसकी प्राप्ति वह विभिन्न करों को लगाकर करती है साधारणत: नगर निगम निम्नलिखित कर लगाती है-

जल कर (Water Tax) – मकान तथा दुकानों के कर मूल्य का एक निश्चित प्रतिशत जल कर के रूप में वसूल किया जाता है|

सफाई कर (Scavenging Tax) – जायदादों के कर-मूल्य का एक निश्चित प्रतिशत सफाई के रूप में लिया जाता है किन्तु यदि कर मूल्य सौ रुपए तक है तो यह नहीं लिया जाता|

अग्नि-शमन कर (Fire Service Tax) – जायदादों के कर मूल्यों का पूर्व निश्चित प्रतिशत अग्नि-शमन कर के रूप में लिया जाता है|

गृह-कर (House Tax) – शहरी और ग्रामीण क्षेत्र में नगर निगम एक निश्चित प्रतिशत राशि गृह-कर के रूप में वसूल करता है रहने के उपयोग में आने वाली जायदादों पर गृह-कर के लिए कर मूल्य का प्रतिशत और व्यवसाय तथा उघोग के काम आने वाली संपत्तियों पर गृह-कर के लिए कर मूल्य प्रतिशत अलग-अलग है| इसी प्रकार नगर निगम द्वारा बिना बने हुए भवनों की भूमि पर खाली भूमि कर लगाया जाता है| खाली भूमि पर कर की दर व्यापारिक, औघोगिक एवं रिहायशी दृष्टि से अलग-अलग होती है|

मनोरंजन कर (Entertainment Tax) – प्रथम श्रेणी के सिनेमाघरों पर तथा द्वित्तीय श्रेणी के सिनेमाघरों पर प्रति शो अलग-अलग दर से कर लिया जाता है इसके अतिरिक्त नाटको, संगीत सम्मलेन, सर्कस, तमाशो, कार्निवाल आदि मनोरंजन के साधनों पर भी कर लगया जाता है|

विज्ञापन कर (Tax on Advertisements) – समाचार-पत्रों में छपने वाले विज्ञापनों पर कर नहीं लगया जाता| इसके अतिरिक्त अन्य सभी प्रकार के विज्ञापनों पर निगम कर लगाता है|

सम्पत्तियों के विक्रय तथा हस्तांतरण पर कर (Tax on Sale and Transfer of Property) – एक व्यक्ति या समूह के पास से जब कोई जायदाद किसी दुसरे व्यक्ति या व्यक्ति समूह को बेचीं या हस्तांतरित की जाती है तो इग्म उस पर एक निश्चित दर से कर लेता है|

भवनों के नक्शों पर कर (Tax on Building Plans) – भवनों के निर्माण से पूर्व नक़्शे निगम से पास कराने होते है| उस समय नक़्शे पास कराने पर निगम कर वसूल करता है यह कर केवल नागरिक क्षेत्रो में ही लिया जाता है, ग्रामीण क्षेत्रों में नहीं लिया जाता|

बिजली उपयोग कर (Tax on Consumption of Electricity) – घरेलु काम में आने वाली बिगली तथा औघोगिक कार्यों में प्रयुक्त होने वाली बिजली की खपत पर भिन्न-भिन्न दरों से कर वसूल किया जाता है|

नगर निगम विभिन्न व्यवसायों व् रोजगारों पर भी कर लगाता है|

अन्य स्थानीय संस्थाओं के सामान नगर निगम मार्ग व् चुंगीकर वसूल करता है|

राज्य सरकार से अनुदान (Grants-in-AId) – नगर निगम की राज्य सरकार अनुदान देती है| 74वें संशोधन अधिनियम के अंतर्गत यह अनुदान राज्य की सचित निधि से दिये जाने की व्यवस्था है| राज्य सरकार 74वें संशोधन अधिनियम के अंतर्गत एक वित्त आयोग की स्थापना करेगी यह वित्त आयोग सुझाव देगा की राज्य सरकार द्वारा वसूल किए जाने वाले किन करों की आय को राज्य तहत अंग्र निगम व् अन्य संस्थाओं के मध्य बांटा जाए तथा इस वितरण की किस अनुपात में बांटा जाए| इन करों के वितरण में अन्य स्वशासी संस्थाए भी सम्मिलित है|

उघोगो से आय (Income from Enterprises) – निगम अनेक लाभदायक उघोगो को प्रारम्भ करके उनसे आय प्राप्त कर सकता है|

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *