भारतीय स्‍वतंत्रता आंदोलन के प्रमुख वचन और नारे हिंदी में

Here you will find Important Words and slogans list of Indians independence in Hindi

भारत देश की आजादी में भारतीय क्रांतिकारियों की बहुत बड़ी महत्वपूर्ण भूमिका है, जिन्होंने अपनी जान पर खेलकर भारत देश को गुलाम शासन से मुक्त कराया और देश की आजादी के लिए स्वतंत्रता संग्राम के महानायक (भारतीय स्वतंत्रता सेनानियों) ने के बहुत से ऐसे आन्दोलन थे जिसमे उनके वचन और नारों की विशेष भूमिका थी उनके कुछ महत्वपूर्ण वचन एवं नारों का जिक्र आज हमने यहाँ किया है|

भारतीय स्‍वतंत्रता आंदोलन के प्रमुख वचन और नारे से सम्बंधित सामान्य ज्ञान
‘इन्‍कलाब जिंदाबाद’ का नारा भगत सिंह’ जी ने दिया
‘दिल्‍ली चलो’ ‘सुभाष चंद्र बोस’ जी द्वारा बोला गया एक नारा था.
‘करो या मरो’ का नारा महात्‍मा गांधी’ जी का था.
‘जय हिंद’ ‘सुभाष चंद्र बोस’ जी द्वारा बोला गया वचन था.
‘पूर्ण स्‍वराज्‍य’ का नारा जवाहर लाल नेहरू’ जी ने दिया.
‘हिंदी, हिंदू, हिंदोस्‍तान’ का नारा भारतेंदु हरिश्‍चंद्र’ जी द्वारा बोला गया वचन था.
‘वेदों की ओर लौटो’ ये वचन दयानंद सरस्‍वती’ जी ने दिया.
‘आराम हराम है’ का नारा ‘जवाहर लाल नेहरू’ जी ने दिया.
‘हे राम’ शब्द महात्‍मा गांधी’ जी द्वारा बोला गया वचन था.
‘भारत छोड़ो’ का नारा महात्‍मा गांधी’ जी द्वारा बोला गया वचन था.
‘जय जवान, जय किसान’ का नारा लाल बहादुर शास्‍त्री’ (1965 में, पाकिस्‍तान युद्ध के समय) जी ने दिया.
‘मारो फिरंगी को’का नारा मंगल पांडे द्वारा बोला गया था.
‘जय जगत’ वचन विनोबा भावे’ जी ने कहा
‘कर मत दो’ का नारा सरदार वल्‍लभ भाई पटेल’ जी ने कहा
‘संपूर्ण क्रांति’ का नारा जयप्रकाश नारायण’ जी ने कहा
‘विजयी विश्‍व तिरंगा प्‍यारा’ का नारा श्‍याम लाल गुप्‍ता पार्षद’ जी द्वारा बोला गया वचन था.
‘वंदे मातरम्’ शब्द बंकिमचंद्र चटर्जी’ जी ने दिया
‘जन-गण-मन अधिनायक जय हे’ ‘रवींद्र नाथ टैगोर’ जी द्वारा दिया गया वचन था जो आज भारतीय राष्ट्री गान (गीत) हैं
‘साम्राज्‍यवाद का नाश हो’ वचन भगत सिंह’ जी ने कहा
‘स्‍वराज्‍य हमारा जन्‍मसिद्ध अधिकार है’ ये शब्द बाल गंगाधर तिलक’ जी ने कहा
‘सरफरोशी की तमन्‍ना अब हमारे दिल में है’ ये वचन राम प्रसाद बिस्मिल‘ जी द्वारा बोला गया वचन था.
‘सारे जहां से अच्‍छा हिन्‍दोस्‍तां हमारा’ यह वचन अल्‍लामा इकबाल’ जी ने कहा
‘तुम मुझे खून दो मैं तुम्‍हें आजादी दूंगा’ यह ‘सुभाष चंद्र बोस’ जी द्वारा बोला गया वचन था.
‘साइमन कमीशन वापस जाओ’ ‘लाल लाजपत राय’ जी द्वारा कहा गया वचन था
‘हू लिव्‍स इफ इंडिया डाइज’ ‘जवाहर लाल नेहरू’ जी ने कहा
‘मेरे सिर पर लाठी का एक-एक प्रहार, अंग्रेजी शासन के ताबूत की कील साबित होगा’ यह वचन ‘लाला लाजपत राय’ जी ने कहा
‘मुसलमान मूर्ख थे, जो उन्‍होंने सुरक्षा की मांग की और हिंदू उनसे भी मूर्ख थे, जो उन्‍होंने उस मांग को ठुकरा दिया’ ‘अबुल कलाम आजाद’ जी द्वारा बोला गया वचन था.