मई महीने की भारत के राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री की यात्रा के बारे में संछिप्त जानकारी

हमने यहाँ पर मई महीने की भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के यात्रा के बारे में संछिप्त में प्रकाशित किया है.

भारत के उपराष्ट्रपति (Vice President) वेंकैया नायडू की 05 मई को दक्षिण अमेरिका की 5 दिन की यात्रा:
05 मई के भारत के उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने दक्षिण अमेरिका के ग्वाटेमाला, पेरू और पनामा की 5 दिन की यात्रा की है. वेंकैया नायडू की उपाध्यक्ष के कार्यालय संभालने के बाद पहली विदेश यात्रा की है. इस यात्रा के दौरान द्विपक्षीय व्यापार और निवेश पर चर्चा हुई है. चर्चा के दौरान उच्चस्तरीय प्रतिनिधिमंडल और राज्य मंत्री जसवंतसिंह सुमनबाही भबोर होंगे.

10 मई को उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू की 3 राष्ट्र भ्रमण यात्रा:
उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू के इस यात्रा के दौरान भारत और पनामा देश ने राजनयिक और आधिकारिक पासपोर्ट धारकों और कृषि के क्षेत्र में वीजा की छूट पर 2 समझौतों पर हस्ताक्षर किए गए हैं.

11 मई की भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 2 दिवसीय की नेपाल की यात्रा:
11 मई को भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नेपाल की तीसरी यात्रा है इस यात्रा के दौरान विभिन्न क्षेत्रों में पारस्परिक हित और साझेदारी के मुद्दों को आगे बढ़ाने के लिए वार्ता होगी. नरेंद्र मोदी हिमालयी राष्ट्र की अपनी यात्रा के दौरान नेपाल के राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति से मुलाकात करेंगे और नेपाली समकक्ष केपी शर्मा ओली से द्विपक्षीय वार्ता करेंगे.

12 मई की उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू की यात्रा:
12 मई की उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू की यात्रा के दौरान भारत और पेरू की तरफ से उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू और पेरू के प्रधान मंत्री सीज़र विलेनुवा अरेवालो ने लीमा में नवीकरणीय ऊर्जा के क्षेत्र में एक समझौते पर हस्ताक्षर किए है. इस यात्रा के दौरान नेताओं ने पारस्परिक हित के विभिन्न द्विपक्षीय और अंतर्राष्ट्रीय मुद्दों पर चर्चा की है.

14 मई की राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की जयपुर से अजमेर की यात्रा:
14 मई की राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की जयपुर से अजमेर की यात्रा के दौरान वे पुष्कर में पुष्कर सरोवर और ब्रह्मा मंदिर और अजमेर में सुफी संत ख्वाजा मोइनुद्दीन चिस्ती के दरगाह जाएंगे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का खादीम की अंजुमन समिति बुलंद दरवाजा में स्वागत किया जायेगा.

15 मई को राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने सेवाओं पर वैश्विक प्रदर्शनी-2018 का उद्घाटन करेंगे:
15 मई को राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने (Global Exhibition on Services-2018) का उद्घाटन करेंगे. और वे सेवाओं में 12 चैंपियन सेक्टर भी लॉन्च करेंगे. इस बाद वे भाभा परमाणु अनुसंधान केंद्र जाएंगे और परमाणु ऊर्जा प्रौद्योगिकियों के विभाग की प्रदर्शनी में भाग लेंगे और मुंबई के ट्रॉम्बे में डीएई सुविधाओं का उद्घाटन करेंगे.

19 मई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जम्मू-कश्मीर की एक दिवसीय यात्रा:
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जम्मू-कश्मीर के इस यात्रा के दौरान श्रीनगर-लेह राष्ट्रीय राजमार्ग पर भारत की सबसे लंबी सड़क सुरंग और एशिया की सबसे लंबी बिडरेक्शनल सुरंग ज़ोजिला सुरंग की आधारशिला रखेंगे.

19 मई को नीति आयोग ने वेंचर कैपिटल संगोष्ठी 2018 का आयोजन:
19 मई को नीति आयोग ने विजन इंडिया फाउंडेशन के सहयोग से फ्रांस और भारत के बीच आर्थिक संबंधों को मजबूत करने के लिए तीन दिवसीय कैपिटल संगोष्ठी 2018 का आयोजन किया है. कैपिटल संगोष्ठी 2018 में फ्रांसीसी निवेशक 100 शुरुआती मध्य-चरण के भारतीय स्टार्ट-अप के साथ बातचीत करेंगे. डीआईपीपी, अतुल चतुर्वेदी और सीईओ अमिताभ कांत सम्मेलन का उद्घाटन किया. उद्घाटन के दौरान फ्रांस के राजदूत अलेक्जेंड्रे ज़िग्लर भी मोजूद थे.

20 मई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्रीनगर में 330 मेगावॉट किसानगंगा जल विद्युत परियोजना का उद्घाटन:
20 मई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्रीनगर में 330 मेगावॉट किसानगंगा जल विद्युत परियोजना का उद्घाटन किया जिसकी लागत 5200 करोड़ रुपए है. जिससे सालाना 1,713 मिलियन यूनिट बिजली उत्पन्न होगी और जम्मू-कश्मीर को 12 प्रतिशत बिजली मिलेगी.

29 मई की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की इंडोनेशिया, मलेशिया, सिंगापुर की 5 दिवसीय यात्रा:
29 मई की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 5 दिवसीय यात्रा के दौरान पारस्परिक हित के मामलों पर तीन देशों (इंडोनेशिया, मलेशिया, सिंगापुर ) के नेतृत्व के साथ प्रतिनिधिमंडल स्तर की बातचीत करेंगे. यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की इंडोनेशिया की पहली आधिकारिक और सिंगापुर की दूसरी आधिकारिक है. यह यात्रा भारत अधिनियम के “एक्ट ईस्ट” नीति पर जोर देने के महत्व में महत्वपूर्ण है.

30 मई को पराग्वे में पहली बार एक महिला राष्ट्रपति पद पर नियुक्ति होगी:
परागग्वे के निवर्तमान नेता होरासियो कार्टस के इस्तीफा के बाद 30 मई को पराग्वे में पहली बार एक महिला राष्ट्रपति पद पर नियुक्ति होगी. पराग्वे में 45 सीनेटरों में से सिर्फ आठ महिलाएं हैं, और निम्न सदन के 80 सदस्यों में से 11 हैं.

पीएम मोदी और राष्ट्रपति की जून महीने की यात्रा