Sensex – सेंसेक्स क्या है और यह कैसे घटता-बढ़ता है सम्पूर्ण जानकारी हिंदी में

Complete Information about of What is SENSEX, How Sensex Works in Hindi

सेंसेक्स क्या है संपूर्ण जानकारीWhat is Sensex in Hindi – यदि आप यह नहीं जानते की सेंसेक्स क्या होता है तो हम आपको विस्तार में सेंसेक्स जुड़े सभी विषयो के बारे बतायंगे जैसे सेंसेक्स क्या है?, इसकी शुरुआत कैसे और किसने की, ये कैसे बनता है, ये कैसे घटता बढता है, किस तरह इमसे 30 कंपनियो का चुनाव किआ जाता है और सेंसेक्स के फायदे आदि इन सभी सामान्य ज्ञान प्रश्नों के उत्तर आपको निचे दिए गए अनुच्छेद में मिलेंगे तो आये सबसे पहले जाने आखिर सेंसेक्स क्या होता है?

आज के समय में आप सभी ने अक्सर टीवी, अखवार या फिर इंटरनेट वेबसाइट पर SENSEX शब्द को देखा, पड़ा या किसी दोस्त साथी के मुह से सुना होगा काफी न्यूज़ अपडेट में दिखाते है की सेंसेक्स इतने अंक ऊपर चढ़ गया तो कभी सेंसेक्स आज इतने अंक निचे गिर गया|
जब आप शेयर मार्किट में निवेश करने की इच्छा करते तो आप सेंसेक्स के बारे में सोचते है होंगे परन्तु आप सेंसेक्स की अधिक जानकारी नहीं जान पाते सेंसेक्स भी एक तरह से निफ्टी की तरह होता है पर निफ्टी की तुलना में सेंसेक्स में मात्र 30 कंपनी सूचीबद्ध होती है| और निफ्टी में 50 कंपनी सूचीबद्ध होती है निफ्टी को निफ्टी 50 भी कहा जाता है|

सेंसेक्स (SENSEX) शब्द दीपक मोहोनी द्वारा दिया गया था सेंसेक्स दो शब्द Sensitivity और Index शब्दों से मिल कर बना है इनका मतलब संवेदी सूचकांक| सेंसेक्स भारतीय स्टॉक मार्किट का बेंचमार्क इंडेक्स है जो की बोम्बे स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध शेयर्स में उतार चढ़ाव के बारे में बताता है इसी के जरिये 30 कंपनी के प्रदर्शन की जानकारी हमे मिलती है| सेंसेक्स भरा का सबसे पुराना स्टॉक मार्किट Index है और इसकी शुरुआत 1986 में हुई थी. सेंसेक्स का सबसे महत्वपूर्ण काम स्टॉक मार्किट में शेयर्स के भाव की जानकारी हमको एक ओसत वैल्यू रूप में दे जिसे से की हम ये जान सके की शेयर्स के भावों में कितनी तेजी और मादी है| भारत का सबसे पुरना स्टॉक एक्सचेंज बोम्बे स्टॉक एक्सचेंज है जिसके 30 भारतीय कम्पनी आती है इसके अंतर्गत आने सभी कंपनी को यदि मार्किट कैपिटलाइजेशन के हिसाब से दिखा जाये तो काफी बड़ी होती है BSE में आने सभी सभी कंपनी भारतीय मार्किट के ट्रेंड को Set करने का काम करती है यदि सरल भाषा में कहे तो भारत की बड़ी कंपनियो के शेयर्स की कीमतों को आंकने के लिए बनाये गए सूचकांक जो जो इन कंपनियों के शेयरों की बढ़ती घटती कीमतों पर नजर रखता है वही सेंसेक्स कहलाता है।

आप अब तक यह तो जान ही गए होंगे की आखिर सेंसेक्स होता क्या है चलो आप अगले प्रश्न पर आते है की सेंसेक्स बनता कसे है और किसके द्वारा बनाया जाता है जैसे की हमने आपको बताया की सेंसेक्स बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के अनार्गत सिर्फ 30 कंपनियों के शेयर्स मिलकर बना होता है जबकि इसमें 6000 से अधिक कंपनियो का आंकड़ा होता है सेंसेक्स में केवल 30 कंपनी के शेयर शेयर्स सबसे जादा ख़रीदे व् बेचे जाते है सेंसेक्स में 30 सबसे बड़ी कंपनिया होती है इनका मार्किट में केप स्टोक एक्सचेंज में सभी सूचीबद्ध शेयर्स का लगभग आधा होता है और सभी कंपनिया 13 अलग अलग सेक्टर से चुनी जाती है in सभी कंपनियो का चुनाव स्टॉक एक्सचेंज की index कमिटी द्वारा किआ जाता है.

यदि सेंसेक्स (SENSEX) में सभी लिमिटेड कंपनियो के मार्किट में शेयर्स के मूल्य बढ रहे तो सेंसेक्स भी बढ जायगा यदि सेंसेक्स की कंपनियो के शेयर्स में गिरावट आती है तो समझिये की सेंस भी निचे के स्तर पर आ जायेगा| एक उदहारण के तोर पर मानिये यदि किसी कंपनी ने मार्किट में अपना नया प्रोजेक्ट लांच किआ तो हो सकता है की उस कंपनी के शेयर्स के दाम बढ़ेंगे और यदि कंपनी बुरे हालत में हो और कंपनी के शेयर्स को अधिक व्यक्ति न खरदी तो सेंसेक्स निचे की और आने लगता है|

आये जाने 30 कंपनियो का चुनाव Index कमिटी किस तरह करती है कंपनी के शेयर लगभग 1 साल से अधिक स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध होने चाहिए इन सालो के बिच लोगो ने उस कंपनी के स्टॉक को ख़रीदा व् बेचा हो, प्रत्येक दिन औसत ट्रेड की संख्या देश की 150 बड़ी कंपनियो में होना चाहिए ये प्रमुख बाते है जिन्हें स्टॉक index कमिटी ध्यान में रखती है.

1986 में सेंसेक्स में 30 कंपनियो के पहली बार शामिल किआ गया था ये सभी कंपनिया वित्तीय रूप से बहुत बड़ी व् ताकतवर होती थी ऐसे कंपनियो को ब्लू छिप कंपनिया भी कहा जाता है BSE सेंसेक्स में लिस्टेड कंपनियो की सूचि निम्न है.

1. Adani Ports and Special Economic Zone Ltd.
2. Asian Paints
3. Axis Bank Ltd.
4. Bajaj Auto Ltd.
5. Bharti Airtel Ltd.
6. Cipla
7. Coal India Ltd.
8. Dr. Reddys Laboratories Ltd.
9. HDFC Bank Ltd
10. Hero MotoCorp Ltd.
11. Hindustan Unilever Ltd.
12. Housing Development Finance Corporation Ltd.
13. ICICI Bank Ltd.
14. ITC
15. Infosys Ltd.
16. Kotak Mahindra Bank Ltd.
17. Larsen & Toubro Ltd.
18. लुपिन
19. Mahindra & Mahindra Ltd.
20. Maruti Suzuki India Ltd.
21. NTPC Ltd.
22. Oil & Natural Gas Corporation Ltd.
23. Power Grid Corporation Of India Ltd.
24. Reliance Industries Ltd.
25. State Bank Of India
26. Sun Pharmaceutical Industries Ltd.
27. Tata Consultancy Services Ltd.
28. Tata Motors
29. Tata Motors – DVR Ordinary
30. Tata Steel Ltd.
31. Wipro Ltd.

ये सभी कंपनिया अपने अपने सेक्टर में प्रमुख है सेंसेक्स के जहा बहुत फायदे है वही कही न कही नुकसान भी है सेंसेक्स की जरिये निवेशक मार्किट में भविष्य के लिए अपना पैसा पूँजी सही तरीके व् सही जगह निवेश कर सके अक्सर भारतीय रुपय मूल्य के स्तर पर घटता बढता रहता है जब रुपया बाकि देशो की करेंसी के मुकाबले मजबूत होता है तो तो देश में मिलने वाली वस्तु सस्ती होती है. जब सेंसेक्स ऊपर जाता है तो निवेशक उस कंपनी में अपना पैसा निवेश करते है और जब निवेशको द्वारा कंपनी के पास बहुत पैसा एकत्रित हो जाता है तो कंपनी बदती है व् विस्तृत होती है जिससे निवेशको को फायदा होता है जब शेयर्स बाजार में अच्छा व् उसकी वैल्यू मार्किट में ऊपर होती है तो भारी मात्र में निवेशक निवेश करने लगते है जब निवेशक कंपनी में भारी संख्या में पैसा निवेश करते है तो रुपया मजबूत होने की संभावना होती है जिससे बाजार में मिलने वाली वस्तु सस्ती हो जाती है आज के समय में सेंसेक्स हर एक दिन बढता व् उतरता रहता है और हर दिन एक नया रिकॉर्ड बनता है यदि आप बाजार में अपना पैसा निवेश करना चाहते है तो ये आपके लिए कठिन व् जोखिम पूर्ण हो सकता है शेयर्स मार्किट में कभी सोच समझकर अपना मूल्यवान पैसा निवेश करे और निवेश करने से पहले किसी अनुभवी व् विशेषज्ञ की सहयता ले जिससे की आपको फायदा हो|

उमीद है ऊपर दी SENSEX के बारे में जानकारी आपको अपने सभी प्रश्नों के उत्तर इस लेख में मिल गए होंगे यदि फिर भी कोई कमी हो तो आप हमे मेल भी कर सकते है जिससे की हम उसमे सुधार करेंगे|