महत्वपूर्ण सामान्य ज्ञान प्रश्न एवं उत्तर हिंदी में

Collect important general knowledge information through Long Questions Answers in Hindi

यहाँ हमने बहुत महत्वपूर्ण एवं सामान्य ज्ञान रोचक तथ्य के बारे में संछिप्त प्रश्न एवं उत्तर के आधार पर प्रकाशित किया है जिसके बारे में आप कुछ महत्वपूर्ण सामान्य जानकारी अर्जित कर सकते हैं.


वामपंथी एवं दक्षिणपंथी कौन होते हैं? (Who are the leftists and rightists in Hindi?)

उत्तर: वामपंथी (Leftist) उन व्यक्तियों को कहा जाता हैं, जो स्थापित व्यवस्था को समाज एवं व्यक्ति के लिए अच्छा-से-अच्छा बनाने के लिए उसमे आमूल-परिवर्तन चाहता हैं तथा एक अच्छी नै व्यवस्था लाना चाहता हैं. दक्षिणपंथी (Rightist) वे व्यक्ति होते हैं, जो वामपंथी नहीं होते हैं अर्थात स्थापित व्यवस्था में सुधार तो चाहते हैं, लेकिन आमूल परिवर्तन नहीं चाहते हैं, इन्हें कुछ सीमा तक रुदिवादी भी कहा जा सकता हैं. इन शब्दों का प्रयोग फ़्रांस की संसद की एक परम्परा से हुआ हैं, जिसमे आमूल परिवर्तनवादी सभाध्यक्ष के बाईं और एवं रुड़ीवादी दाई और बैठते थे. भारत में व्यवहारिक राजनीति में जो व्यक्ति मार्क्सवाद, लेनिनवाद एवं मायोबाद अर्थात कम्युनिस्ट विचारधारा का समर्थन करते है वे वामपंथी कहे जाते हैं.


अविश्वास प्रस्ताव और निंदा प्रस्ताव में क्या अंतर हैं? (Difference between a Motion of no Confidence and Condemnation in Hindi?)

उत्तर: अविश्वास प्रस्ताव संसद के निचले सदन (लोक सभा) में लाया जाता है, इसे लाने के लिए कम-से-कम 50 सांसदों का समर्थन होना आवश्यक होता हैं स्पीकर की स्वीकृति के बाद इस पर बहस होती हैं. तथा अंत में मतदान होता है. बहुमत यदि अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में जाता हैं, तो सरकार को त्यागपत्र देना पढता है. निंदा प्रस्ताव का उद्देश्य सरकार की नीतियों या कार्यक्रमों की आलोचना करता होता तथा उसकी गलती का अहसास कराना होता हैं. सरकार को गिराना हैं.


उष्ण वाताग्र क्या हैं? (What is Warm front in Hindi) 

उत्तर: भूतल से ऊपर की और उठती हुई गर्म वायु राशि और इसके निचे स्थित शीतल वायु राशि और इसके निचे स्थित शीतल वायु राशि के मध्य स्थित तिरछा सिमातल (रेखा) उष्ण वाताग्र का कोणिक झुकाव सामान्यत: शीत वाताग्र की तुलना में कम होता हैं. इसमें गर्म वायू शीतल वायु के ऊपर से चलती हैं जिसके कारण बादलों की उत्पत्ति होती हैं और एक वाताग्र के गुजरने के बाद वर्षा होती है. किसी स्थान से उष्ण वाताग्र के पार कर जाने पर वहां हल्की वर्षा होती हैं अथवा फुहार पड़ती हैं. उष्ण वाताग्र जिस स्थान से गुजरता हैं वहां का तापक्रम बढ़ जाता हैं और हवा की दिशा बदल जाती है और वर्षा होने लगती है. उष्ण वाताग्र की उत्पत्ति सामान्यत: उच्च आकंशों में मुख्यत: शीत ऋतू में उस समय होती हैं जब अवदाब अधिक शक्तिशाली होती हैं.


कोपी क्या हैं ? (What is Kopie or Koppie in Hindi?)

उत्तर: यह दक्षिणी अफ्रिका में पाई जाने वाली एकाकी पहाड़ी हैं, जिसमें प्राय: कठोर प्राचीन ज्वालामुखी शेलें पाई जाती हैं, अपने हारों और की मुलायम शेलों के अपरदित हो जाने पर इन्सेल्वर्ग के समान इस पहाड़ी की उत्पत्ति होती हैं. कई कोपी की श्रंखला को कोप (kop) कहते हैं.


क्वार्ट्ज या स्फटिक क्या हैं? (What is Quartz in Hindi)

उत्तर: यह एक कठोर खनिज हैं, जो शुद्ध रूप से स्वेत या रंगहीन तथा पारदर्शी होता हैं, किन्तु इसमें अन्य तत्वों के मिले होने पर इसका रंग गुलाबी, दुधिया, धूमिल, धूसर, कत्थई आदि विभिन्न प्रकार का हो सकता हैं. यह अमली आग्नेय शेलों से मिलता हैं और इस पर रासायनिक अपक्षय नहीं होता है. यह ताप प्रतिरोधी भी होता हैं. इसका उपयोग विशेष प्रकार के लांस तथा प्रिज्म बनाने कांच तथा रेगमार बनाने और रेडियो और दूरदर्शन के ट्रांसमीटरों के निर्माण आदि में होता हैं.


क्वेस्टा क्या हैं? (What is Questa in Hindi?)

उत्तर: यह कठोर तथा अवरोही शेलों वाली लम्बी तथा संकरी पर्वत श्रेणी, जिसका नति तथा ढाल झुका हुआ होता हैं. यह होगबैक (Hogback) से इस बात में भिन्न हैं की होगबैक में नति और ढाल खड़े होते हैं. अवसादी शेल के निचे लावा गुम्बद (आग्नेय शेल) की स्थिति होने पर जब कोमल अवसादी शेलें अनाच्छादन द्वारा कट जाती हैं. लावा गुम्बद की कठोर एवं प्रतिरोधी शेल ऊपर निकल आती हैं जिससे स्वेस्टा अथवा होगबैक जैसी स्थलाकृति का निर्माण होता हैं.


खसका दंड क्या हैं? (What is Offset staff, offset bar, or offset rod in Hindi?)

उत्तर: यह प्राय: जरीब सर्वेक्षण में प्रयुक्त होने वाला बांस या लकड़ी का लट्ठा होता हैं. इसकी सहायता से जरीब रेखा (Chain line) से समीपवर्ती लक्ष्यों की लम्बवत दुरी ज्ञात की जाती हैं. इस लट्ठे की लम्बाई सामान्यतया 3 मीटर या 10 फीट होती हैं. सुविधा के लिए प्रत्येक 30 सेंटीमीटर या एक फीट भाग एकांतर से काले, सफ़ेद या लाल रंगों (पेंट) से रंग होता हैं.


सब्जियों एवं फलों में लगने वाले कीटों से बचाने हेतु ‘ट्राईकोग्रेसा काइलोनिश’ किटभक्षी की वैज्ञानिकों द्वारा खोज के बारे में जानिए.

उत्तर: भारतीय बागवानी अनसंधान केंद्र (Indian Horiticulture Research Centre-IHRC) बांका (बिहार) भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद् (आई.सी.ए.आर.) नै दिल्ली के अधीनस्थ के वैज्ञानिकों ने ऐसे कीट-ट्राईकोग्रेसा काइलोनिश को विकसित किया हैं, जो सब्जियों-बैंगन के पोधे में लगने वाले कीटों को खा जाता हैं, जिसे रासायनिक कीटनाशकों के विकल्प के रूप में देखा जा रहा हैं. इस कीट को पेपर कार्ड के माध्यम से एक लकड़ी पर छोड़ दिया जाता हैं, जहाँ वह अंडे देता हैं, जिनसे अनेक कीट निकलते हैं. वे पोधे के विभिन्न भागों पर फ़ैल जाते हैं और हानिकारक कीड़ों/कीटों का खात्मा शुरू कर देते हैं. इनके प्रभाव से खेत में फल एवं तना छेदक कीट का प्रकोप ख़त्म हो जाता हैं. इसका सफल प्रयोग बांका (बिहार) जिले में कृषि विज्ञान केंद्र (KVK) ने बैंगन में, कटोरिया प्रखंड के गौआ बुखार, बांका प्रखंड के चुटिया जैसे-गांवों में बैंगन के पोधो पर इस अच्छे वाले कीट का प्रयोग सफल रहा हैं जिसे 8 हजार हेक्टेयर में लगे बैंगन के पोधों पर इसके प्रयोग की प्रक्रिया शुरू कर दी गई हैं इस तकनीक को अपनाने के लिए किसानों को जागरूक किया जा रहा हैं ताकि रासायनिक कीटनाशकों के दुष्प्रभाव से बचा जा सके.


सदोष अवरोध क्या है? (What is a defect barrier in Hindi?)

उत्तर: जो कोई किसी व्यक्ति को स्वेच्छया ऐसे बाधा डालता है की उस व्यक्ति को उस दिशा में, ज्सिमें उसे जाने का अधिकार हैं, जाने से निवारित कर दे, वह उस व्यक्ति का सदोष अवरोध करता हैं, यह कहा जाता हैं. भूमि के या जल की किसी प्राइवेट मार्ग में बाधा डालना जिसके सम्बन्ध में उस व्यक्ति को सद्भावनापूर्वक विशवास हैं की वहां बाधा डालने का उसे विधिपूर्ण अधिकार हैं, इसमें अपराध नहीं है.


आपात उद्घोषणा के प्रभाव बताएं.

उत्तर: आपात उद्घोषणा के निम्नलिखित प्रभाव होते हैं-
१. संघ द्वारा राज्य को निर्देश देना.
२. संघ की राज्य सूचि के विषयों पर विधि बनाने की शक्ति.
३. वित्तीय सम्बन्धो में परिवर्तन.
४. लोक सभा की अवधि वृद्धि
५. अनुच्छेद 19 में प्रदत्त मूल अधिकारों का निलम्बन.

Leave a Comment