चंद्रयान-3 मिशन अपडेट:- चांद के दक्षिणी ध्रुव पर पहुचने वाला विश्व का पहला देश बना

चंद्रयान-3 मिशन अपडेट: भारत ने चांद के दक्षिणी ध्रुव पर पहुँचने में सफलता पाकर विश्व का पहला देश बन गया है। जानिए इस महत्वपूर्ण मिशन की नवीनतम ख़बरें और विकास

चंद्रयान-3 मिशन अपडेट –

भारत का महत्वाकांक्षी अंतरिक्ष मिशन अब चांद पर पहुंच गया है। “चंद्रयान-3” नामक मिशन ने चंद्रमा की कक्षा में पांचवां और अंतिम चरण को सफलतापूर्वक पूरा किया है। इसके साथ ही, “चंद्रयान-3” ने चंद्रमा की सतह पर लैंड कर गया है.

भारत रचेगा यह कीर्तिमान

इसरो ने चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर और प्रज्ञान रोवर को भी उसी क्षेत्र में भेजा था, जहां अब चंद्रयान 3 ने सॉफ्ट लैंडिंग की। भारत चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर सॉफ्ट लैंडिंग करने वाला पहला देश बन गया है।
11 अगस्त को रूस द्वारा लॉन्च किया गया लूना-25 चांद पर लैंड नहीं कर पाया और एक दुर्घटनाग्रस्ति का सामना करना पड़ा। रूस भी चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर उतरने की तैयारी में था

24 अगस्त का इतिहास (24 August History in Hindi): भारत और विश्व की ऐतिहासक घटनाएँ

चंद्रयान-3 ने भेजी तस्वीरें:

चंद्रयान-3 ने लैंडिंग से पहले “लैंडर हैज़र्ड डिटेक्शन एंड अवॉइडेंस कैमरा” (LHDAC) का उपयोग करके चांद की सतह की तस्वीरें भेजी है। इसी क्षेत्र में “चंद्रयान-3” की लैंडिंग की गई। “चंद्रयान-3” के लैंडर ‘विक्रम’ को सफलतापूर्वक स्पेसक्राफ्ट से अलग कर दिया गया था और अब इसके 23 अगस्त को चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर उतरने की उम्मीद है। इसरो ने एक ट्वीट के माध्यम से बताया कि ‘लैंडर मॉड्यूल को प्रोपल्शन मॉड्यूल से सफलतापूर्वक अलग कर दिया गया था.

एशिया कप 2023 भारतीय टीम: टीम, खिलाड़ियों की सूची, कप्तान और शेड्यूल

चंद्रयान-3 मिशन अपडेट

  • 5 अगस्त को चंद्रयान-3 ने पहली ऑर्बिट में पहुंचाया.
  • चंद्रयान-3 ने चांद की पहली तस्वीर भेजी.
  • मिशन की पांच और ऑर्बिट सफलतापूर्वक परिवर्तित की गई.
  • वर्तमान में चंद्रयान-3 को 153×163 किमी की ऑर्बिट में स्थापित किया गया है.
  • इसरो ने लैंडर मॉड्यूल को प्रोपल्शन मॉड्यूल से अलग करने का निर्णय 17 अगस्त को लिया.
  • 14 जुलाई को सफल लॉन्चिंग के बाद 5, 6, 9 और 14 अगस्त को चंद्रयान-3 ने ऑर्बिट को सफलतापूर्वक परिवर्तित किया.
  • चंद्रयान-3 की ऑर्बिट को धीरे-धीरे कम किया जा रहा है और यह चंद्रमा के करीब पहुंचाया जा रहा है.
  • चंद्रयान-3 का लैंडर 23 अगस्त को चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुवीय क्षेत्र पर सॉफ्ट लैंडिंग करेगा.
  • इसरो के चंद्रयान-3 मिशन का लैंडर चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव के पास लैंड करेगा.
  • अगर सब कुछ योजना के अनुसार रहा तो लैंडर छह बजे के करीब चंद्र की सतह पर लैंड करेगा.
  • इसरो के बेंगलुरु स्थित ISTRAC के MOX से चंद्रयान-3 को लगातार ट्रैक किया जा रहा है.

केबीसी 15 एपिसोड 9 प्रश्न और उत्तर – 23 अगस्त 2023

Leave a Comment