क्या आप जानते है? भारत की सबसे गहरी नदी कौन-सी है?

Bhart ki Sabse Gehri Nadi: Here you can know about which is the deepest river of India in Hindi, and their depth in meter and feet. Interesting gk about indian deepest river in Hindi.

Deepest River of India General Knowledge in Hindi

Deepest River of India Gk in Hindi: भारत में 8 प्रमुखक नदी प्रणालियाँ है, नदियाँ मानव, जीवजन्तु के जीवन के लिए बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है. भारत में नदियों की पूजा भी की जाती है भारत में छोटी-बडी कुल 200 प्रमुख नदियाँ है. सभी नदियों का पानी हमारे जीवन का प्रमुख साधन रही है. आपने कई नदियों के बारे में सुना होगा परन्तु आपने दिमाग में हमेशा एक प्रश्न रहा होगा की भारत की सबसे गहरी नदी कौनसी है और भारत में ये कहा पर बहती है.

भारत की सबसे गहरी नदी कौन-सी है?

भारत की सबसे अधिक गहरी नदी का नाम ब्रह्मपुत्र नदी है, यह नदी तिब्बत, भारत और बांग्लादेश यानि ब्रह्मपुत्र नदी तीन अलग अलग देशो में से होकर अपने रास्ते बहती है और बाद में जाकर ये नदी बंगाल की खाड़ी में मिल जाती है. यह नदी भारत की प्रमुख नदियों में से एक नदी मानी जाती है. संस्कृत में ब्रह्मपुत्र का शाब्दिक अर्थ ब्रह्मा का पुत्र होता है।

Read here: Kaveri River A Culture Heritage in Hindi

कुल गहराई कितनी है?

ब्रह्मपुत्र नदी की औसत गहराई 38 मीटर (124 फीट) एवं इस नदी की अधिकतम गहराई 120 मीटर (380 फीट) है। यही कारण है की ब्रह्मपुत्र नदी भारत की सबसे गहरी मानी जाती है. इसके अलावा ब्रह्मपुत्र नदी एक बहुत लम्बी नदी भी है जोकि (2900 किलोमीटर) लम्बी है।

कहाँ-कहाँ से होकर होता है उद्गम?

ब्रह्मपुत्र नदी हिमालय के उत्तर में तिब्बत के पुरंग जिले में स्थित मानसरोवर झील से उद्गम/निकलती है तिब्बत में इस नदी को यरलुंग त्संगपो या साम्पो कहाँ जाता है और भारत में यह नदी तिब्बत से होती हुई अरुणाचल प्रदेश से देश में आती है और असम की घाटी से बहते हुए आगे बढती है जहाँ यह नदी ब्रह्मपुत्र नाम से कहलाई जाती है, लेकिन बोडो लोग इस नदी को भुल्लम-बुथुर भी कहते हैं जिसका अर्थ है – कल-कल की आवाज निकालना। इसके बाद यह नदी बांग्लादेश में प्रवेश करती है जहाँ पर इसकी धाराएं कई भागों में बट जाती है.

brahmaputra-river-map
brahmaputra-river-map

अन्य कई नाम से जानी जाती है.

ब्रह्मपुत्र नदी को अन्य कई नामों से जाता है जैसे बांग्ला भाषा में जमुना, तिब्बत में यरलुंग त्संगपो या साम्पो, देहांग (अरुणाचल), इस नदी की संयुक्त धरा मेघना कहलाती है और इसकी सहायक नदी बराक है.

विद्युत प्रयोग में इस्तेमाल

ब्रह्मपुत्र नदी से असम घाटी से कुछ विद्युत पैदा भी की जाती है। सिर्फ भारत देश में लगभग 12,000 मेगावाट विद्युत् हो सकती है। असम राज्य में कुछ जलविद्युत केन्द्र बनाए गए हैं। जिनमें से सबसे उल्लेखनीय ‘कोपली हाइडल प्रोजेक्ट’ है.

You may also like to read:

Leave a Comment