ज्योतिरादित्य माधवराव सिंधिया; रोचक बातें, जानें ज्योतिरादित्य माधवराव सिंधिया के बारे में

jyotiraditya scindia in hindi important facts

Interesting Facts about Jyotiraditya Scindia in Hindi – इस लेख में ज्योतिरादित्य माधवराव सिंधिया के जीवन इतिहास (Jyotiraditya Scindia Gk in Hindi) से जुडी कुछ महत्वपूर्ण बातें प्रकाशित की है। ज्योतिरादित्य के बारे में प्रकाशित किए गए इन तथ्यों को हमने अनेकों वेब पोर्टल से लिया है इन महत्वपूर्ण बातों से आप ज्योतिरादित्य माधवराव सिंधिया के बारे में और अधिक जान सकोंगे।

Gk about Jyotiraditya Scindia – ज्योतिरादित्य सिंधिया के इतिहास के बारे में जानें

मुंबई, महाराष्ट्र में जन्में ज्योतिरादित्य माधवराव सिंधिया देश के वाणिज्य एवं उद्योग राज्यमंत्री भी रहे हैं. इनका जन्म बॉम्बे में 1 जनवरी 1971 को हुआ था।

इनके पिता स्व.श्री माधवराव सिन्धिया भी गुना शहर के कांग्रेसी विजयी उम्मीदवार रहे थे।

इनकी माता मराठा रियासत से थी, जिनका नाम माधवी राजे सिंधिया था। और इनकी धर्मपत्नी प्रियदर्शिनी राजे सिंधिया जी है।

ज्योतिरादित्य सिंधिया जीवाजीराव सिंधिया के पोते हैं जो ग्वालियर रियासत के अंतिम महाराजा थे।

वर्ष 2001 में ज्योतिरादित्य नें अपनी एमबीए की पढ़ाई स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय में ग्रेजुएट स्कूल ऑफ बिजनेस से की।

ज्योतिरादित्य मध्य प्रदेश के गुना शहर से कांग्रेस के विजयी उम्मीदवार भी रहे है।

मनमोहन सिंह सरकार के समय वह केन्द्रीय मंत्री रह चुके है।

पिता माधवराव सिंधिया जी की मृत्यु एक हवाई दुर्घटना में 30 सितम्बर 2001 को हुई| उसके बाद ज्योतिरादित्य राष्ट्रीय 18 दिसम्बर को कांग्रेस पार्टी से जुड़ गए और पिता की जगह गुना शहर से चुनाव लड़ने का निर्णय लिया।

24 फ़रवरी को ज्योतिरादित्य 4 लाख से अधिक वोटो से जीत मिली और संसद बन गए।

वर्ष 2004 में इन्होने फिर चुनाव लड़ा, और 2007 में इनकों केंद्रीय संचार और सूचना प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री के तौर पर शामिल किया गया।

2007 के बाद इन्होने 2009 में तीसरी बार चुनाव लड़ा और इस बार यह वाणिज्य और उद्योग राज्य मंत्री के पद पर बैठे।

ज्योतिरादित्य ने सोनिया गांधी को 10 मार्च 2020 को अपना इस्तीफा सौंप दिया और कांग्रेस पार्टी से बाहर हो गए इसके बाद इन्होने 11 मार्च 2020 को भारतीय जनता पार्टी सरकार में अपने आपको शामिल कर लिया।

ज्योतिरादित्य माधवराव सिंधिया के बारे में ऊपर दी गई जानकारी में यदि कुछ गलत प्रकाशित किया गया है तो उसमे सुधार करने में हमारा सहयोग करें।

You may also like to read:

प्रातिक्रिया दे0

Your email address will not be published. Required fields are marked *