भारत के स्वतंत्रता सेनानी (शीर्ष): नाम एवं इनके प्रमुख योगदान – Freedom Fighters of India

भारत के स्वतंत्रता सेनानी में महात्मा गांधी से लेकर भगत सिंह तक, जिन देशभक्तों की बदौलत मिली थी देश को आजादी जानें उन वीरों के नाम यहाँ पर.

Freedom Fighters of India: जब भी भारत की स्वतंत्रता का जिक्र होता है तो देश के महान स्वतंत्रता सेनानियों का नाम भी जरुर याद आता है जिनके बलिदान एवं शहादत की वजह से हरेक भारतीय नागरिक सुकून की श्वास ले रहा है।

भारत के स्वतंत्रता सेनानी में वे सभी वीर पुरुष और महिलाएं शामिल है जो ब्रिटिश राज के खिलाफ लड़े और देश को अंग्रेजो की गुलामी से आजादी दिलाने में अपना योगदान दिया। इन सभी स्वतंत्रता सेनानियों ने देश की आजादी के लिए काफी संघर्ष किए जिसकी बदोलत आज भारत एक स्वतंत्र एवं गुलाम मुक्त देश बना।

पढ़े: स्वतंत्रता सेनानियों के नारे

भारत के स्वतंत्रता सेनानी की सूचि – List of Freedom Fighters of India in Hindi

भारत के स्वतंत्रता सेनानी प्रतियोगी परीक्षाओं जैसे यूपीएससी आईएएस, एसएससी, बैंकिंग के लिए एक महत्वपूर्ण विषय है। इस लेख में हमने Top Indian Freedom Fighters की सूचि प्रकाशित की है।

Freedom Fighters of India
Freedom Fighters of India

वैसे तो देश की आजादी में शहीद हो चुके हजारो प्रमुख स्वतंत्रता सेनानी शामिल है जैसे महात्मा गांधी, सरदार पटेल, सुभाष चंद्र बोस, भगत सिंह, राजगुरु, सुखदेव, लाला लाजपत राय, विनायक दामोदर सावरकर, सरोजिनी नायडू, रानी लक्ष्मीबाई, चन्द्रशेखर आज़ाद, बिरसा मुंडा, एनी बेसेंट, जवाहरलाल नेहरू, अरुणा आसफ अली, राजेंद्र प्रसाद, मौलाना हसरत मोहानी आदि।

स्वतंत्रता सेनानी का नामयोगदान
महात्मा गांधीअहिंसा के मार्ग पर चले एवं देश के राष्ट्रपिता के नाम से जानने वाले महात्मा गाँधी जी, भारत एवं भारतीय स्वतन्त्रता आन्दोलन के एक प्रमुख राजनैतिक एवं आध्यात्मिक नेता थे।
जवाहर लाल नेहरूयह भारत के पहले प्रधानमन्त्री एवं स्वतन्त्रता के पूर्व और पश्चात् की भारतीय राजनीति में केन्द्रीय व्यक्तित्व थे। इन्होने महात्मा गांधी के संरक्षण में, भारतीय स्वतन्त्रता आन्दोलन के सर्वोच्च नेता के रूप में उभरे।
वल्लभभाई पटेलसरदार पटेल के नाम से जानने वाले वल्लभभाई झावेरभाई पटेल जी भारत के एक स्वतंत्रता सेनानी, अधिवक्ता तथा राजनेता थे।
भगत सिंहभगत सिंह देश के लिए एक करिश्माई भारतीय क्रांतिकारी थे,
चंद्रशेखर आजादचन्द्रशेखर ‘आजाद भारतीय स्वतन्त्रता संग्राम के स्वतंत्रता सेनानी थे।
सुभाष चंद्र बोससुभाष चन्द्र बोस भारत के स्वतन्त्रता संग्राम के अग्रणी तथा सबसे बड़े नेता माने जाते थे। 
नाना साहबइनका मूल नाम ‘धोंडूपन्त’ था, सन 1857 के भारतीय स्वतन्त्रता के प्रथम संग्राम के शिल्पकार थे।  
तात्या टोपेभारत के प्रथम स्वाधीनता संग्राम के एक प्रमुख सेनानायक थे। 
चितरंजन दासदेशबन्धु चित्तरंजन दास सुप्रसिद्ध भारतीय नेता, राजनीतिज्ञ, वकील, कवि, पत्रकार तथा भारतीय स्वतंत्रता आन्दोलन के प्रमुख नेता थे।
लाला लाजपत रायलाला लाजपत राय भारत के एक प्रमुख स्वतंत्रता सेनानी थे।
बाल गंगाधर तिलकयह भारतीय राष्ट्रवादी, समाज सुधारक, शिक्षक, वकील और एक स्वतन्त्रता सेनानी थे। 
अरबिंदो घोषयुवा अवस्था में इन्होने स्वतन्त्रता संग्राम में क्रान्तिकारी के रूप में भाग लिया,
अशफाक उल्ला खानभारतीय स्वतन्त्रता आन्दोलन के स्वतंत्रता सेनानी में शामिल थे। 
सरोजिनी नायडूकांग्रेस की पहली भारतीय महिला अध्यक्ष के रूप में नियुक्त थीं
अरुणा आसफ अलीभारतीय स्वतंत्रता सेनानी थीं सन 1942 में भारत छोडो आंदोलन के समय, मुंबई के गोवालीया क्षेत्र में कांग्रेस का झंडा फ्हराने के लिये हमेशा याद किया जाता है।
कस्तूरबा गांधीकस्तूरबा गांधी, महात्मा गांधी जी की पत्नी जो भारत में बा के नाम से विख्यात है। 
विजयलक्ष्मी पंडितभारत के स्वतंत्रता आंदोलन में इन्होने अपना अमूल्य योगदान दिया।
सुचेता कृपलानीसुचेता कृपलानी देश की प्रथम महिला मुख्यमंत्री (उत्तर प्रदेश) थी, एक भारतीय स्वतंत्रता सेनानी एवं राजनीतिज्ञ थीं।
एनी बेसेंटएनी बेसेंट सन 1917 में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की पहली महिला अध्यक्ष बनीं एवं ये ब्रिटिश समाजवादी, फ्रीमेसन, थियोसोफिस्ट, महिला अधिकार और होम रूल कार्यकर्ता, शिक्षाविद् और भारतीय राष्ट्रवाद की प्रचारक थीं।

इन सभी स्वतंत्रता सेनानियों ने भारत की आजादी के लिए अपने अलग-अलग तरीके से देश के लिए समर्पण दिखाया, कुछ ऐसे थे जो अहिंसा और सत्याग्रह की राह पर चले, जबकि कुछ ने देश की आजादी के लिए क्रन्तिकारी गतिविधियों में हिस्सा लिया। देश की आजादी के लिए इनकी शहादत एवं समर्पण की बजह से वर्ष 1947 में भारत ब्रिटिश गुलामी से मुक्त हुआ। भारत के हरेक स्वतंत्रता सेनानी (Freedom Fighters of India) को उनके वीर बलिदान के लिए देश की सरकार ने उन्हें अलग-अलग सम्मानों एवं पुरुष्कारों से नवाज़ा गया है।

पढ़े: भारतीय राष्ट्रीय स्वतंत्रता आन्दोलन प्रश्न उत्तर हिंदी में

Leave a Comment